Top

एक्सिस बैंक में मिले दो फर्जी खाते, हुआ 31 करोड़ का ट्रांजेक्शन

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 Dec 2016 7:08 PM GMT

एक्सिस बैंक में मिले दो फर्जी खाते, हुआ 31 करोड़ का ट्रांजेक्शन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा : आयकर विभाग की सेक्टर-51 स्थित एक्सिस बैंक पर छापेमारी के बाद नए-नए खुलासे हो रहे है। मंगलवार को कोतवाली सेक्टर-49 पुलिस की एक टीम बैंक पहुंची। जांच पड़ताल में कई फर्जी आईडी व दो बोगस खातों के बारे में अहम जानकारी मिली। दोनों खातों में एक खाता बचत व दूसरा चालू खाता था। दोनों ही खातों से करोड़ों रुपए के ट्रांजेक्शन करने की बात सामने आई है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं की है। जांच के बाद ही गिरफ्तारी की जाएगी। 31 करोड़ रुपए से ज्यादा का हुआ ट्रांजेक्शन

यहाँ पुलिस टीम को दो फर्जी खाते मिले। पहला खाता बचत खाता है जिसे बैंक प्रबंधन द्बारा 15 मार्च 2०16 व दूसरा चालू खाता जिसे 12 जनवरी 2०16 को खोला गया था। जिसमें चालू खाते से अब तक करीब 29 करोड रुपए का ट्रांजेक्शन किया जा चुका है। जबकि बचत खाते से 2 करोड़ 16 लाख रुपए का ट्रांजेक्शन किया जा चुका है। इन दोनों खातों के ट्रांजेक्शन की डिटेल निकाली जा रही है। ताकि यह पता चल सके कि इन खातों से और किन खातों में पैसा भेजा गया या डाला गया।

ईडी को भेजी जाएगी डिटेल

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह जानकारी प्रवर्तन निदेशालय को भेजी जाएगी। ताकि इन खातों की जानकारी की पूरी डिटेल निकाली जा सके। वहीं, आयकर विभाग की नजर भी बैंक खातों पर है। कोतवाली सेक्टर-49 के विजेंद्र सिंह भाड़ाना ने बताया कि पुलिस की जांच में दो फर्जी खाते मिले है। जिनसे करोड़ों रुपए का ट्रांजेक्शन किया गया है।

क्या है पूरा मामला

नोएडा की सेक्टर-51 एक्सिस बैंक में आयकर विभाग की छापेमारी के बाद करीब 2० ऐसे खातों के बारे में जानकारी मिली थी जिसे फर्जी कंपनी के नाम से खोला गया था। जिसमें करीब 6० करोड़ रुपए जमा करने की बात सामने आई थी। इसको लेकर प्रवर्तन निदेशालय की एक टीम भी जांच कर रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story