Top

अब #MeToo के चंगुल में ये साध्वी, समलैंगिक संबंध बनाने का आरोप

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 18 Oct 2018 3:53 PM GMT

अब #MeToo के चंगुल में ये साध्वी, समलैंगिक संबंध बनाने का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: अभी तक आपके सामने मीटू के मामलों में एक पुरूष द्वारा महिला का शोषण करने की दास्‍तां ही सामने आई होंगी। लेकिन अब एक साध्‍वी समदर्शी पर लगे आरोपों से मीटू की सोशल मीडिया कैंपेन एक अलग ही दिशा में मुड़ती दिख रही है। इन पर एक लड़की के साथ समलैंगिक संबंधों को बनाने की कोशिश करने का आरोप लगा है। ये साध्‍वी भी ऐसी हैं, जिनके बड़े बड़े नेताओं के साथ फोटो हैं। कई उदयोगपतियों से भी संबंध हैं। साध्‍वी के कारनामों की चर्चा का आलम ये है कि इनके जयपुर स्थित आश्रम पर स्‍थानीय पुलिस ने छापा मारकर 6 साल से लेकर 16 साल तक की लड़कियों को बंधनमुक्‍त कराया है।

लड़की के साथ जबरन बनाए संबंध

आपको बता दें कि जयपुर के कानोता थाने में बीते 29 सितंबर को एक शिकायत दर्ज होती है। यह शिकायत जामड़ोली स्थित समदर्शी आश्रम की संचालिका के विरूद्ध है। आश्रम की संचालिका पर एक लड़की ने जबरन समलैंगिक संबंध बनाने की कोशिश करने का आरोप लगाया है।

लड़की ने अपनी तहरीर में कहा है कि घटना से दो ढाई महीने पहले वह आश्रम में रहने गई थी। वहां पहुंचते ही उसको वहां कुछ गलत होने का अंदेशा होने लगा। लेकिन घटना वाले दिन साध्‍वी का दूसरा रूप देखकर वह दंग रह गई। उसने साध्‍वी से मिन्‍नतें कीं, गिडगिडाई, लेकिन साध्‍वी को जबरन समलैंगिक संबंध बनाने का नशा चढ़ा हुआ था।

चाइल्‍ड लाइन ने लिया एक्‍शन

पीडिता ने थाने में शिकायत दर्ज करवाने के बाद चाइल्‍ड लाइन से मदद मांगी। चाइल्‍ड लाइन ने एक्‍शन लेते हुए समदर्शी आश्रम पर छापा मारा। जैसे ही चाइल्‍ड लाइन की टीम आश्रम पहुंची, वहां हड़कंप मच गया। वहां 6 साल से लेकर 16 साल तक की लड़कियों को आजाद कराया गया। ये सब लड़कियां त्रिपुरा से आई थीं। इनको वहां से बंधनमुक्‍त करवाकर उनके मां बाप को सौंप दिया गया। मां बाप काफी तमतमाए हुए थे। सभी पैरेंट्स का कहना था कि हमने तो यहां बच्चियों को पढ़ने भेजा था पर यहां तो नर्क यातना दी जा रही है।

साध्‍वी ने कहा- हुई है साजिश

साध्‍वी समदर्शी ने इस आरोप को झूठा बताते हुए सिरे से नकार दिया है। उनका कहना है कि उनके साथ साजिश हुई है। साध्‍वी ने अपनी सफाई में कहा है कि सीकर जिले से एक महिला 18 जुलाई को उनके यहां आई थी। उसके साथ तीन महीने का एक बच्‍चा भी था। वो सिर्फ बच्चे को आश्रम में रखना चाहती थीं लेकिन महिला को भी वहीं रहने को कहा गया। आश्रम में रहने के दौरान उसकी हरकतें संदिग्‍ध थीं। उनकी हरकतों से साजिश की बू आ रही थी। ये केस भी उसी साजिश का हिस्‍सा है।

बड़े नेताओं को राखी बांध चुकी है साध्‍वी

साध्‍वी समदर्शी के कई बडे राजनेताओं से संबंध हैं। उनमें से कई ऐसे नेता हैं जो इस समय सत्‍ता के शीर्ष पर विराजमान हैं। साध्‍वी के बारे में जानकारी करने पर पता चलता है कि उसे बडे नेताओं संग फोटो खिंचाने का शौक भी है। वो ये सारी फोटो और वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर साझा भी करती है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story