×

जापान में उच्च शिक्षा हासिल करने वाले भारतीय छात्रों को मिलेगी 59 लाख तक की स्कॉलरशिप

जापान अपने देश के एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में विदेशी स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ाने के उद्देश्य से दाखिले लेने वाले भारतीय छात्रों को 59 लाख तक की स्कॉलरशिप देगा। भारत में जापानी एंबेसी के एक अधिकारी दाइसुके कोडामा ने बताया कि जापान सरकार की ओर से अंडरग्रेजुएट (UG) के छात्रों के लिए यह राशि 59 लाख रुपए तक और पोस्टग्रेजुएट (PG) के लिए 42 लाख रुपए तक रखी गई है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 21 May 2017 9:02 AM GMT

जापान में उच्च शिक्षा हासिल करने वाले भारतीय छात्रों को मिलेगी 59 लाख तक की स्कॉलरशिप
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: जापान अपने देश के एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में विदेशी स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ाने के उद्देश्य से दाखिले लेने वाले भारतीय छात्रों को 59 लाख तक की स्कॉलरशिप देगा। भारत में जापानी एंबेसी के एक अधिकारी दाइसुके कोडामा ने बताया कि जापान सरकार की ओर से अंडरग्रेजुएट (UG) के छात्रों के लिए यह राशि 59 लाख रुपए तक और पोस्टग्रेजुएट (PG) के लिए 42 लाख रुपए तक रखी गई है।

छात्रों को नहीं देनी होगी मंथली ट्यूशन फीस

हर महीने पीएचडी छात्रों को मंथली अलाउंस के रूप में 82 हजार रुपए तक मिलेंगे। यह राशि कुल सुविधाओं को मिलाकर 3 साल में 42 लाख तक हो जाएगी। कोडामा ने कहा कि इसके अलावा उच्च शिक्षा के लिए छात्रों को मंथली ट्यूशन फीस भी नहीं देनी होगी। लेकिन उन्हें हर महीने अलाउंस के रूप में अच्छी खासी राशि मिलती रहेगी।

क्या है इस योजना का उद्देश्य

-इस समय जापान में उच्च शिक्षा में भारतीय छात्रों को कुल संख्या लगभग 1000 है, जिसे दोगुना करने का टारगेट रखा गया है।

-लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर सेलेशन होगा।

-लिखित परीक्षा में जापानी भाषा का एक टेस्ट भी होगा।

-इस योजना का मुख्य उद्देश्य जापान में पढ़ाई के लिए अधिक से अधिक विदेशी छात्रों को आकर्षित करना है।

-इसके अलावा जापान के अन्य देशों के साथ बेहतर संबंध बनाना है।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story