Top

बेटे की रिहाई के लिए कश्मीरी मां की मुख्यमंत्री से मदद की गुहार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 Jan 2018 12:57 PM GMT

बेटे की रिहाई के लिए कश्मीरी मां की मुख्यमंत्री से मदद की गुहार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

श्रीनगर : आतंकवाद के आरोप में दिल्ली में पकड़े गए एक कश्मीरी व्यापारी की मां ने सोमवार को जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से अपने बेटे की रिहाई के लिए मदद मांगी। उन्होंने अपने बेटे को निर्दोष बताया। व्यापारी के परिजनों ने यहां उसकी रिहाई के लिए प्रदर्शन भी किया।

व्यापारी बिलाल अहमद कावा को वर्ष 2000 में कथित रूप से लाल किले पर हमले के आरोप में इस वर्ष 12 जनवरी को इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर दिल्ली पुलिस और गुजरात के आतंक रोधी दस्ते ने गिरफ्तार किया था।

दिल्ली पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार 37 वर्षीय व्यापारी के बैंक खाते का प्रयोग जम्मू एवं कश्मीर में आतंक के वित्त पोषण और लश्कर-ए-तैयबा के द्वारा किया गया है।

ये भी देखें :इजरायल-भारत प्रौद्योगिकी समूह ने 5 करोड़ डॉलर का त्रिपक्षीय कोष बनाया

कावा की मां फातिमा ने प्रदर्शन के दौरान पत्रकारों से कहा कि उसका बेटा एक ईमानदार व्यापारी है जिसे वर्ष 2001 में भारतीय पासपोर्ट जारी किया गया था।

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि अगर उनका बेटा आतंकवादी होता तो वह कभी उसकी रिहाई के लिए नहीं कहतीं। उन्होंने महबूबा मुफ्ती से मामले में हस्तक्षेप करने और यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि उनके बेटे के खिलाफ मामला न चलाया जाए।

उनके अनुसार, कावा मेडिकल चेकअप के लिए दिल्ली गया था। जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने कहा है कि उसके खिलाफ कोई मामला नहीं है और वह संदिग्ध आतंकवादियों की किसी भी सूची में शामिल नहीं है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story