Top

उत्तराखंड में लश्कर-ए-तैयबा का हवाला संचालक गिरफ्तार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 7 Feb 2018 10:32 AM GMT

उत्तराखंड में लश्कर-ए-तैयबा का हवाला संचालक गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को कहा कि उसने उत्तराखंड से एक हवाला संचालक को गिरफ्तार किया है, जो देश में आतंकवादी गतिविधियों के वित्त पोषण के लिए लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के एक वाहक के तौर पर काम कर रहा था। एक अधिकारी ने कहा अब्दुल समद (22) को हरिद्वार से सोमवार को गिरफ्तार किया गया और एनआईए अदालत के समक्ष पेश किया गया। अदालत ने उससे पूछताछ के लिए एजेंसी को छह दिनों की इजाजत दे दी।

अधिकारी ने कहा कि समद को देश भर में चल रही लश्कर की गतिविधियों की जांच के तहत गिरफ्तार किया गया है।

अधिकारी ने कहा कि समद प्रमुख हवाला संचालकों में एक है, जो उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड में इसे संचालित करता है।

ये भी देखें : लखनऊ : एटीएस को मिली शेख अकबर की दस दिन की कस्टडी

अधिकारी ने कहा, "वह सऊदी अरब में अपने चचेरे भाई के जरिए एलईटी के वित्त वाहक के तौर पर काम कर रहा था।"

एजेंसी का दावा है कि समद ने उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हवाला संचालकों के जरिए 2017 में 350,000 रुपये जुटाए थे। इस नकदी को सह आरोपी शेख अब्दुल नईम उर्फ सोहेल खान को दिया था, जो महाराष्ट्र के औरंगाबाद का निवासी है। सोहेल को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story