×

NDA की बैठक में मोदी की दो टूक, कहा- CAA पर सरकार का नहीं है गलत रूख

एनडीए की बैठक में नागरिकता संशोधन अधनियम(सीएए) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि केंद्र सरकार का रुख सही है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सीएए पर हमने कुछ गलत नहीं किया है बल्कि हम फ्रंटफुट पर रहे हैं।

suman

sumanBy suman

Published on 31 Jan 2020 2:51 PM GMT

NDA की बैठक में मोदी की दो टूक, कहा- CAA पर सरकार का नहीं है गलत रूख
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: संसद के बजट सत्र के दौरान रणनीति बनाने को लेकर शुक्रवार को एनडीए की बैठक का आयोजित हुई। एनडीए की बैठक में नागरिकता संशोधन अधनियम(सीएए) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि केंद्र सरकार का रुख सही है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सीएए पर हमने कुछ गलत नहीं किया है बल्कि हम फ्रंटफुट पर रहे हैं। ऐसे में सभी घटक दल एग्रेसिव रुख अख्तियार रखें। सीएए से किसी की भी नागरिकता नहीं जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सीएए के मुद्दे पर कुछ लोग भड़काने का काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस देश के मुसलमानों का भी देश पर उतना ही हक और कर्तव्य है जितना बाकियों का है।

पीएम ने साथ ही राजग नेताओं से संसद में मजबूती से नागरिकता कानून का का समर्थन करने को कहा सीएए पर रक्षात्मक मत रहिए। हमने सही काम किया है। आगे बढ़कर इसके बारे में देश को बताइए। उन्होंने कहा कि सीएए से किसी की नागरिकता नहीं जा रही है, बल्कि नागरिकता देने के लिए ही यह लाया गया है। पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोग सीएए के मुद्दे पर भड़काने का काम कर रहे हैं।मुसलमान भी इस देश के नागरिक हैं और उनका भी उतना ही अधिकार और कर्तव्य है जितना दूसरों का है।

बैठक के बाद एक नेता ने बताया

बैठक के बाद भाजपा के एक सहयोगी दल के एक नेता ने बताया कि प्रधानमंत्री ने संसद के बजट सत्र के दौरान आक्रामक रूप से सीएए पर विपक्ष के आरोपों का जवाब देने को कहा। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक अन्य नागरिकों की तरह ही हमारे 'अपने' हैं।

बता दें कि विपक्षी दल सीएए को भेदभावपूर्ण बताता रहा है। सहयोगी दल के नेता ने नाम नहीं उजागर करने की शर्त पर बताया कि उन्होंने (मोदी) कहा कि सरकार ने संशोधित नागरिकता कानून पर कुछ भी गलत नहीं किया है और उसे बचाव में आने की कोई जरूरत नहीं है। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के नेताओं ने त्रिपुरा में ब्रू जनजाति के सदस्यों के पुनर्वास एवं बोडो समझौते के लिए प्रधानमंत्री की सराहना की।

यह पढ़ें...‘आम आदमी की खाने की थाली खरीदने की क्षमता बढ़ी, इस राज्य में है सबसे किफायती’

जेडीयू ने एनपीआर

इस दौरान जेडीयू ने एनपीआर का मुद्दा उठाया।जनता दल (यूनाइटेड) ने शुक्रवार को राजग घटक दलों की बैठक में सरकार से अनुरोध किया कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) की प्रश्नावली से माता-पिता के विवरण से जुड़े सवाल हटाए जाएं।इसका समर्थन अकाली दल ने भी किया। यह जानकारी जेडीयू के सांसद ललन सिंह ने दी। उन्‍होंने कहा कि पार्टी ने सरकार से एनडीए की बैठक में एनपीआर प्रश्नावली में माता-पिता के विवरण को देखने वाले प्रश्नों को हटाने का आग्रह किया। गृह मंत्री अमित शाह ने हमें एनपीआर पर चर्चा का आश्वासन दिया।

गिरिडीह के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी आज नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में संसद के लाइब्रेरी बिल्डिंग में हुई एनडीए की बैठक में शामिल हुए। इसमें 1 फरवरी से प्रारंभ हो रहे बजट सत्र को लेकर एनडीए घटक दलों की भूमिका, सदन में रखे जाने वाले आम बजट, आने वाले विधेयक, बजट सत्र उपयोगी एवं सकारात्मक हो और विपक्ष के प्रश्नों का जवाब पूरी तैयारी के साथ देने के संदर्भ में चर्चा हुई। बैठक के प्रारंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन हुआ। बैठक के दौरान सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी की एनडीए घटक दल के देशभर के सांसदों से बजट सत्र से जुड़े विभिन्न विषयों पर भी बातचीत हुई।

suman

suman

Next Story