×

भारत सरकार का आदेश- गूगल और ऐपल के प्ले स्टोर से हटाएं टिक-टॉक

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 16 April 2019 10:41 AM GMT

भारत सरकार का आदेश- गूगल और ऐपल के प्ले स्टोर से हटाएं टिक-टॉक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: भारत सरकार ने गूगल और एपल को अपने प्ले स्टोर से टिकटॉक एप्लिकेशन हटाने के लिए कहा है। सरकार के इस आदेश के बाद और लोग ऐप को डाउनलोड नहीं कर पाएंगे। लेकिन, वे लोग जिनके पास ऐप पहले से डाउनलोड किया हुआ है, वे टिकटॉक का इस्तेमाल कर सकेंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने यह कदम सुप्रीम कोर्ट द्वारा सोमवार को दिए गए आदेश के बाद उठाया है।

यह भी देखे:अब यूट्यूब के जरिए पता चलेगा कि किस वीडियो में लगा है सरकार का पैसा

टिक टॉक के मालिकाना हक वाली कंपनी ‘बाइट डांस’ ने कहा कि मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै पीठ ने कंपनी पक्ष की गैरमौजूदगी में ऐप बैन करने का एकतरफा फैसला सुनाया है।

इसे आधार बनाकर कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट में मद्रास हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगाने की याचिका दी थी, जो सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी।

मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै पीठ ने 3 अप्रैल को एक आदेश पारित कर सरकार को देश में टिकटॉक के डाउनलोड पर रोक लगाने का निर्देश दिया था।

यह भी देखे:फेसबुक मैसेंजर का नया फीचर, लोगों को बेसब्री से था इंतजार

हाईकोर्ट का तर्क था कि टिकटॉक ऐप से पोर्नोग्राफी को बढ़ावा मिलता है। इसके बाद मामले को सुप्रीम कोर्ट ले जाया गया था। जहां रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने सोमवार को कहा कि मद्रास हाईकोर्ट का आदेश सिर्फ अंतरिम आदेश है और मामला अभी विचाराधीन है।

इस मामले पर मद्रास हाईकोर्ट 16 अप्रैल और सुप्रीम कोर्ट 22 अप्रैल को सुनवाई करेगा।

इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, टिकटॉक ने आदेश को अपमानजनक, भेदभावपूर्ण और मनमाना बताया है और बैन को लेकर कोई कमेंट नहीं किया है। टिकटॉक ने कहा कि उसे थर्ड पार्टी द्वारा अपलोड किए गए कंटेट के लिए जिम्मेदार ठहराना गलत है।

कंपनी ने जुलाई 2018 से अब तक 60 लाख से ज्यादा ऐसे वीडियो अपने प्लेटफॉर्म से हटाए हैं, जो कंपनी की गाइडलाइन्स का पालन नहीं करते।

यह भी देखे:फेसबुक मैसेंजर का नया फीचर, लोगों को बेसब्री से था इंतजार

9 करोड़ नए भारतीय यूजर्स बैन होने से पहले ही जुड़े

टिकटॉक ऐप को म्यूजिकली नाम से लॉन्च किया था, बाद में इसका नाम बदलकर टिकटॉक कर दिया गया। एक रिपोर्ट के अनुसार 2019 के शुरुआती तीन महीनों में टिकटॉक प्लेटफॉर्म पर 9 करोड़ नए भारतीय यूजर जुड़े हैं। वहीं ऐप को दुनियाभर में करीब 100 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है।

वीडियो बनाते समय हुई थी युवक की मौत

दिल्ली में टिक टॉक वीडियो बनाते समय एक युवक की मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तीन दोस्त टिक टॉक वीडियो बना रहे थे, तभी उनमें से एक ने असली पिस्तौल निकाली। वीडियो बनाते हुए पिस्तौल से गोली चल गई जो 19 वर्षीय युवक को जाकर लगी।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story