शिवसेना कल तक पक्ष में दे रही थी साथ, अब संसद में विपक्ष से करेगी वार

महाराष्ट्र में गठबंधन एनडीए से अलग होने के बाद शिवसेना के सांसद,संसद में भी विपक्ष में बैठेगे। शिवसेना 11 नवंबर को एनडीए से अलग हो गई। शिवसेना के एनडीए से दूर होने के बाद राज्यसभा में बैठक की व्यवस्था बदल गई है। अब पार्टी के सांसद विपक्ष की तरफ बैठेंगे।

Published by suman Published: November 16, 2019 | 11:09 pm

जयपुर: महाराष्ट्र में गठबंधन एनडीए से अलग होने के बाद शिवसेना के सांसद,संसद में भी विपक्ष में बैठेगे। शिवसेना 11 नवंबर को एनडीए से अलग हो गई। शिवसेना के एनडीए से दूर होने के बाद राज्यसभा में बैठक की व्यवस्था बदल गई है। अब पार्टी के सांसद विपक्ष की तरफ बैठेंगे। इससे पहले राज्यसभा सासंद संजय राउत ने सर्वदलीय बैठक में शामिल होने के सवाल पर कहा, ‘शिवसेना एनडीए की बैठक में नहीं जाएगी।’

नई व्यवस्था में शिवसेना सांसद संजय राउत उच्च सदन में 198 नंबर की सीट पर बैठेंगे। इससे पहले वह 38 नंबर की सीट पर बैठा करते थे।राज्य में विस चुनाव के बाद  भाजपा और शिवसेना मुख्यमंत्री पद को लेकर अलग हो गए।

यह पढ़ें………….ट्रेनी महिला सिपाहियों की बर्खास्तगी रद्द, यह था आरोप

 

इसके बाद शिवसेना ने एनसीपी से हाथ मिलाया।एनसीपी ने कहा कि अगर शिवसेना साथ मिलकर सरकार बनाना है तो उसे एनडीए से पूरी तरह अलग होना होगा। इस शर्त को मानते हुए शिवसेना 11 नवंबर को एनडीए से अलग हो गई और 12 नवंबर को शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने भी केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया।

इधर, उनकी जगह कैबिनेट मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया। 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद भाजपा को 105 और शिवसेना को 56 सीटें मिलीं। और दोनों बाद में गठबंधन से अलग हो गए।