×

सियोल में पीएम मोदी ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि, पुलवामा पर मिला दक्षिण कोरिया का साथ

पुलवामा में हुआ आतंकी हमले के बाद दक्षिण कोरिया पहुंचे पीएम मोदी को आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में राष्ट्रपति मून जे-इन का साथ मिला। दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति ने पुलवामा हमले की निंदा की। दोनों देशों की एजेंसियों में समझौता हुआ है कि वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ेंगे।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 22 Feb 2019 5:15 AM GMT

सियोल में पीएम मोदी ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि, पुलवामा पर मिला दक्षिण कोरिया का साथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: अपनी दक्षिण कोरिया यात्रा के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां शहीदों को श्रद्धांजलि दी। जिसके बाद उन्होंने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन से मुलाकात की। आज प्रधानमंत्री मोदी को सियोल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

पुलवामा में हुआ आतंकी हमले के बाद दक्षिण कोरिया पहुंचे पीएम मोदी को आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में राष्ट्रपति मून जे-इन का साथ मिला। दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति ने पुलवामा हमले की निंदा की। दोनों देशों की एजेंसियों में समझौता हुआ है कि वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ेंगे।

ये भी पढ़ें...आतंकवाद वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए बहुत बड़ा खतरा : मोदी

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज सियोल शांति पुरस्कार प्राप्त करना मेरे लिए बहुत बड़े सम्मान का विषय होगा। मैं यह सम्मान अपनी निजी उपलब्धियों के तौर पर नहीं बल्कि भारत की जनता के लिए कोरियाई जनता की सद्भावना और स्नेह के प्रतीक के तौर पर स्वीकार करूंगा।

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष अयोध्या में आयोजित 'दीपोत्सव' महोत्सव में फर्स्ट लेडी किम की मुख्य अतिथि के रूप में भागीदारी हमारे लिए सम्मान का विषय था। उनकी यात्रा से हज़ारों वर्षों के हमारे सांस्कृतिक संबंधों पर एक नया प्रकाश पड़ा, और नई पीढ़ी में उत्सुकता और जागरूकता का वातावरण बना।

ये भी पढ़ें...मोदी सरकार का बड़ा फैसला, जवानों को श्रीनगर से आने और जाने के लिए मिलेगी प्लेन की सुविधा

महात्मा गांधी की प्रतिमा का किया अनावरण

पीएम मोदी ने गुरुवार को सियोल के योनसेई विश्वविद्यालय में महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया। इस अवसर पर कोरिया गणराज्य के राष्ट्रपति मून जे-इन प्रथम महिला किम जूंग-सूक और संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव बान की-मून उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि बापू की प्रतिमा का अनावरण करना सम्मान की बात है। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जबकि हम बापू की 150वीं जयंती मना रहे हैं, इसका विशेष महत्व हो जाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बापू के विचारों और सिद्धांतों में आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन जैसी मानव जाति के समक्ष आज मौजूद दो सबसे बड़ी चुनौतियों से निपटने की ताकत है। मोदी ने कहा कि बापू के जीवन और विचारों ने हमें यह बताया कि कैसे हम प्रकृति के साथ सद्भाव से रहते हुए कार्बन फुटप्रिंट कम कर सकते हैं। गौरतलब है कि योनसेई विश्वविद्यालय दक्षिण कोरिया के सर्वाधिक प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों में से एक है।

ये भी पढ़ें...दक्षिण कोरिया में PM मोदी बोले- आज अवसरों का देश बन रहा भारत

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story