Top

बिहार : शव दफनाने को लेकर विवाद, गोलीबारी में एक की मौत

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 8 May 2017 3:30 PM GMT

बिहार : शव दफनाने को लेकर विवाद, गोलीबारी में एक की मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दरभंगा : बिहार के दरभंगा जिले के बहेड़ी थाना क्षेत्र में सोमवार को एक कथित कब्रिस्तान में शव दफनाने को लेकर दो गुटों में हुआ विवाद उग्र रूप ले लिया। इस दौरान क्रुद्ध लोगों ने पुलिस के एक वाहन को फूंक दिया। इस बीच पुलिस द्वारा की गई गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य घायल हो गए। क्षेत्र में तनाव बना हुआ है।

पुलिस के अनुसार, हावीडीह गांव में सोमवार सुबह एक व्यक्ति की मौत हो गई। लोग शव को दफनाने कब्रिस्तान ले जा रहे थे। इसी बीच दूसरे पक्ष ने इस भूमि को भूदान की जमीन बताते हुए विरोध किया। परिणामस्वरूप दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए।

ये भी देखें : अगर पाकिस्तान आतंकवादियों से नहीं निपटता है तो घर में घुसकर करेंगे कार्रवाई: ईरान

पुलिस ने कहा कि विवाद को शांत कराने मौके पर पहुंचे पुलिस दल को भी विरोध का सामना करना पड़ा। क्रुद्ध लोगों ने पुलिस पर पथराव प्रारंभ कर दिया तथा एक बज्रवाहन को आग के हवाले कर दिया। स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और अश्रु गैस के गोले दागे।

पुलिस के एक अधिकारी के अनुसार, इसी बीच पुलिस ने भीड़ पर गोली चला दी। गोली लगने से एक महादलित युवक विजय राम (21) की घटनास्थल पर मौत हो गई, जबकि तीन अन्य घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेजा गया है।

दरभंगा के जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यवीर सिंह घटनास्थल पर पहुंचकर लोगों को समझा रहे हैं।जिलाधिकारी ने कहा कि क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है तथा क्षेत्र में तनाव है, परंतु स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की समीक्षा की जा रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story