×

Shrikant Tyagi Case: महिला के अपमान पर तनी CM योगी की भौहें, गृह विभाग से रिपोर्ट तलब, हर बिंदु की होगी जांच

Shrikant Tyagi Case: CM योगी ने गृह विभाग से रिपोर्ट तलब की है। साथ ही, गनर देने से लेकर हर बिंदु की जांच करने, दोषी अधिकारियों और पुलिसकर्मियों सहित आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

Network
Newstrack Network
Updated on: 8 Aug 2022 3:04 PM GMT
Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath
X

Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath (image credit social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

CM Yogi on Shrikant Tyagi Case: नोएडा की ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी (Noida Grand Omaxe Society) में महिला से बदसलूकी के आरोपी श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की भौहें तन गई हैं। उन्होंने गृह विभाग से रिपोर्ट तलब की है। साथ ही, गनर देने से लेकर हर बिंदु की जांच करने, दोषी अधिकारियों और पुलिसकर्मियों सहित आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इस मामले में प्रभारी निरीक्षक, एक सब इंस्पेक्टर और चार कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है और अन्य की जांच चल रही है।

सीएम योगी (CM Yogi) ने पूर्व में कई बैठकों में अधिकारियों को महिलाओं से संबंधित किसी भी अपराध में सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। महिलाओं को जागरूक करने के लिए सरकार प्रदेश में 'मिशन शक्ति अभियान' (Mission Shakti Abhiyan) भी चला रही है। इसीलिए नोएडा मामले में सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने तत्काल कार्रवाई शुरू की। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की लिए टीमें गठित की।

प्रशांत कुमार- 'शीघ्र होगी गिरफ्तारी'

इस मामले में एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार (ADG Law and Order Prashant Kumar) ने कहा कि, 'मुख्य अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीमें गठित की गई हैं। शीघ्र गिरफ्तारी होगी।'

6 पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड

दूसरी तरफ, नोएडा पुलिस ने इनाम भी घोषित किया है। वहां के प्रभारी निरीक्षक और घटना के बाद सोसाइटी में सुरक्षा के लिए लगाए गए एक सब इंस्पेक्टर और चार कांस्टेबल को निलंबित किया गया है। सोसाइटी में जाने वाले हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग की जा रही है। पीड़िता को दो पीएसओ दिए गए हैं। इस तरह की घटनाएं कतई बर्दाश्त नहीं की जाएंगीं।

aman

aman

Next Story