Top

डीएम गौतमबुद्ध नगर ने नाइजीरियाई डेलीगेशन से की मुलाकात, मदद का दिया भरोसा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 28 March 2017 1:36 PM GMT

डीएम गौतमबुद्ध नगर ने नाइजीरियाई डेलीगेशन से की मुलाकात, मदद का दिया भरोसा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा : हाल ही में ग्रेटर नोएडा में हुए नाइजीरियाई छात्रों पर हमले के मामले में आज गौतमबुद्धनगर के जिला मजिस्ट्रेट एनपी सिंह ने संबंधित सभी पक्षों को बुलाकर बातचीत की। न्यूजट्रैक.कॉम से खास बातचीत में उन्होंने बताया कि "हमने नाइजीरियन डेलीगेशन के साथ साथ आरडब्ल्यूए (इलाके के प्रतिनिधियों ) को बातचीत के लिए बुलाया था। शिक्षण संस्थानों, होटल, माल्स के प्रतिनिधियों और पुलिस को भी बुलाया था।

ये भी देखें : विरोध बड़ा या जनादेश! योगी सरकार में लोकतंत्र का परिवर्तनकारी परिणाम नहीं उतर रहा गले

उन्होंने बताया मकसद सिर्फ इतना था कि आगे से इस तरह की कोई शंका न पैदा हो। हमने शिक्षण संस्थानों से भी कहा है कि जब भी इस तरह के छात्रों का एडमिशन होता है तो उनका ओरिएंटेशन प्रोग्राम कराया जाय, ताकि वो यहां की संस्कृति सभ्यता ,भाषा इत्यादि से परिचित हो सकें। साथ ही इलाके के प्रतिनिधियोंं को भी कहा कि ऐसे छात्रों के प्रति उदार नजरिया अपनाएं।

इससे पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नोएडा में अफ्रीकी छात्रों पर हुए कथित हमले के बारे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से बात की थी। और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सुषमा को इस मामले में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच करवाने का आश्वासन भी दिया है।

ग्रेटर नोएडा में कुछ दिन पहले ड्रग ओवरडोज़ से छात्र की मौत के मामले में नाइजीरियाई छात्रों पर हमला हुआ था। स्थिति बिगडती देख पुलिस ने लाठीचार्ज किया जिसमें कुछ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इस घटना में 3 नाइजीरियाई छात्र घायल हुए हैं। पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में भी लिया है। इस बीच लोगों का आरोप है कि 25 मार्च को एनएसजी सोसायटी में रहने वाले एक छात्र की ड्रग ओवरडोज़ से मौत हुई। इसके लिए नाईजीरियाई नागरिकों को ज़िम्मेदार ठहराया गया। इनके खिलाफ स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन भी किया।

दुर्गेश उपाध्याय की विशेष रिपोर्ट

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story