×

IND vs ENG: बर्मिंघम टेस्ट भारत के लिए क्यों है अहम, बुमराह की होगी कड़ी परीक्षा, द्रविड़ ने दिया कोहली को गुरु मंत्र

IND vs ENG: कप्तान रोहित शर्मा की दूसरी आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद बुमराह को कप्तान बनाने का फैसला किया गया है।

Anshuman Tiwari
Written By Anshuman Tiwari
Updated on: 2022-06-30T11:58:32+05:30
IND vs ENG  test
X

बर्मिंघम टेस्ट (फोटो: सोशल मीडिया )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

IND vs ENG: इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार से बर्मिंघम (Birmingham) में शुरू होने वाला टेस्ट मैच भारत (IND vs ENG) के लिए काफी अहम माना जा रहा है। इस टेस्ट मैच में जीत हासिल करने से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए भारत की राह आसान हो जाएगी। बर्मिंघम टेस्ट में भारत की कप्तानी तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) को सौंपी गई है। नियमित कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की दूसरी आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव (Rohit Sharma corona positive) आने के बाद बुमराह को कप्तान बनाने का फैसला किया गया है। 35 साल बाद किसी तेज गेंदबाज को टीम इंडिया की कप्तानी सौंपी गई है।

इंग्लैंड की टेस्ट टीम में काफी मजबूत है और उसने हाल में न्यूजीलैंड की मजबूत टीम को बुरी तरह हराया है। ऐसे में बर्मिंघम टेस्ट में बुमराह की कप्तानी की कड़ी परीक्षा होगी। मैच से पहले टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली को गुरु मंत्र दिया है। उन्होंने कहा कि विराट भले ही शतक न लगाएं पर टीम को उनसे मैच जिताने वाली पारी की उम्मीद है।

भारत के लिए जीत क्यों है जरूरी

भारत और इंग्लैंड के बीच खेला जाने वाला मैच टेस्ट मैच टीम इंडिया के पिछले इंग्लैंड दौरे के समय ही खेला जाना था मगर तब चार मैचों के बाद कोरोना के कारण इस टेस्ट मैच को स्थगित करना पड़ा था। भारतीय टीम के लिए यह टेस्ट मैच इसलिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि अगर भारतीय टीम जीत हासिल करने में कामयाब रही तो वह 3-1 से सीरीज जीत जाएगी। अगर यह कमाल हुआ तो टीम इंडिया 15 साल बाद इंग्लैंड की धरती पर सीरीज जीतने में कामयाब होगी।

टीम इंडिया ने आखिरी बार 2007 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में इंग्लैंड की धरती पर सीरीज जीती थी। अगर भारतीय टीम को बर्मिंघम टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा तो फिर यह सीरीज 2-2 से बराबरी पर समाप्त होगी। ऐसे में टीम इंडिया जहां सीरीज जीतने के लिए पूरी ताकत लगाएगी तो दूसरी ओर इंग्लैंड की टीम सीरीज को ड्रा कराने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी।

बुमराह की कप्तानी की कड़ी परीक्षा

बर्मिंघम टेस्ट में टीम इंडिया की कप्तानी तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह करेंगे। वे देश के 36वें टेस्ट कप्तान होंगे। नियमित कप्तान रोहित शर्मा की दूसरी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद बीसीसीआई ने बुमराह को कप्तानी सौंपने का बड़ा फैसला किया है। इंग्लैंड की मजबूत टेस्ट टीम के खिलाफ बुमराह की कप्तानी की कड़ी परीक्षा होगी। बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि बुमराह को भविष्य के कप्तान के रूप में तैयार किया जा रहा है।

बुमराह ने अभी तक 29 टेस्ट मैच में 123 विकेट हासिल किए हैं। उनकी गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में की जाती है। कपिल देव के बाद पहली बार टीम इंडिया की कप्तानी किसी तेज गेंदबाज को सौंपी गई है। कपिल देव ने 1987 में पाकिस्तान के खिलाफ कप्तानी की थी। सीरीज में पाकिस्तान के खिलाफ 1-0 की हार के बाद कपिल को कप्तानी से हटा दिया गया था। उसके बाद पहली बार किसी तेज गेंदबाज को टीम की कप्तानी सौंपी गई है।

कोहली से मैच जिताऊ पारी की उम्मीद

बर्मिंघम टेस्ट से पहले टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने पूर्व कप्तान विराट कोहली को लेकर महत्वपूर्ण बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कोहली से टीम को मैच जीतने वाली पारी की उम्मीद है। द्रविड़ ने कहा कि कोहली भले ही शतक न लगा सकें मगर उन्हें मैच जिताऊ पारी खेलकर टीम के हौसले को बुलंद करना होगा।

कोहली नवंबर 2019 के बाद अंतरराष्ट्रीय मैचों में कोई भी शतक नहीं लगा सके हैं। ऐसे में सबकी नजर कोहली की बल्लेबाजी पर टिकी होगी। द्रविड़ ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि कोहली में किसी ललक या प्रेरणा की कमी है। बल्लेबाजी की लय हासिल करने के लिए उन्हें सिर्फ एक मैच की जरूरत है। एक अच्छी पारी खेलकर वे एक बार फिर अपना फॉर्म हासिल कर सकते हैं।

भारत के लिए क्यों अहम है बर्मिंघम टेस्ट

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के नजरिए से भी बर्मिंघम टेस्ट को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। टीम इंडिया चैंपियनशिप के पहले सीजन में फाइनल तक पहुंची थी जहां उसे न्यूजीलैंड की टीम से हार का सामना करना पड़ा था। इस बार न्यूजीलैंड और इंग्लैंड की टीमें पहले ही फाइनल की दौड़ से बाहर हो चुकी हैं।

टीम इंडिया इस समय तीसरे नंबर पर है। फाइनल में पहुंचने के लिए टीम को टॉप टू में फिनिश करना होगा। टीम इंडिया को अभी सात मैच और खेलने हैं मगर बर्मिंघम टेस्ट मैच में हार के बाद टीम इंडिया पर बाकी सभी मैचों में जीत हासिल करने का दबाव बढ़ जाएगा। ऐसे में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के नजरिए से भी यह मुकाबला टीम इंडिया के लिए काफी अहम हो गया है।

Monika

Monika

Next Story