Top

ऑस्ट्रेलिया ने भारत से उड़ानों पर लगाई रोक, BCCI ने दिया खिलाड़ियों को ये भरोसा

ऑस्ट्रेलियाई सरकार के इस कदम के बाद खास तौर पर आईपीएल में हिस्सा ले रहे ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी विशेष रूप से परेशान हैं।

Anshuman Tiwari

Anshuman TiwariWritten By Anshuman TiwariDharmendra SinghPublished By Dharmendra Singh

Published on 28 April 2021 9:08 AM GMT

BCCI
X

बीबीसीआई दफ्तर (फाइल फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: देश में कोरोना के जबर्दस्त कहर का असर आईपीएल पर भी पड़ता दिख रहा है। अभी तक चार विदेशी खिलाड़ी आईपीएल से अपना नाम वापस ले चुके हैं। इस बीच ऑस्ट्रेलिया ने भारत से आने वाली सभी सीधी उड़ानों पर 15 मई तक रोक लगा दी है। ऑस्ट्रेलियाई सरकार के इस कदम के बाद खास तौर पर आईपीएल में हिस्सा ले रहे ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी विशेष रूप से परेशान हैं। दूसरी ओर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टूर्नामेंट समाप्त होने के बाद खिलाड़ियों की सुरक्षित स्वदेश वापसी का भरोसा दिया है।

मुंबई इंडियंस के बल्लेबाज क्रिस लिन ने क्रिकेट आस्ट्रेलिया से आईपीएल समाप्त होने के बाद स्वदेश वापसी के लिए विशेष विमान की व्यवस्था करने का अनुरोध किया है। लिन ने कहा कि हर आईपीएल अनुबंध से सीए को 10 फ़ीसदी हिस्सा मिलता है। उन्होंने सीए से पूछा है कि टूर्नामेंट खत्म होने के बाद उस पैसे का इस्तेमाल क्या चार्टर विमान पर किया जा सकता है? लिन का यह अनुरोध इसलिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि आस्ट्रेलिया की ओर से भारत से आने वाली उड़ानों पर रोक लगाने के बाद वे भी स्वदेश वापसी को लेकर परेशान हैं।

आईपीएल में 14 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

आईपीएल में ऑस्ट्रेलिया के कई दिग्गज खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इनमें आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर भी शामिल हैं। ऑस्ट्रेलिया के कुल 14 खिलाड़ी आईपीएल की विभिन्न टीमों में हिस्सेदारी कर रहे हैं। इन खिलाड़ियों के अलावा पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज रिकी पोंटिंग, साइमन कैटिच, कमेंटेटर मैथ्यू हेडन, ब्रेट ली, माइकल स्लेटर और लीजा स्टालेकर भी विभिन्न भूमिकाओं में आईपीएल में हिस्सेदारी कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के अलावा इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के भी कई दिग्गज खिलाड़ी आईपीएल में हिस्सा ले रहे हैं, लेकिन अभी तक इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों ने इस बाबत कोई चिंता नहीं जताई है।

ऑस्ट्रेलिया के पीएम मदद को तैयार नहीं

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की चिंता के बीच प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने खिलाड़ियों की स्वदेश वापसी में सरकार की ओर से मदद की किसी भी संभावना को नकार दिया है। उन्होंने कहा कि आईपीएल में हिस्सा ले रहे क्रिकेटरों को अपना इंतजाम खुद करना होगा। उन्होंने कहा कि यह ऑस्ट्रेलियाई टीम का आधिकारिक दौरा नहीं है और वे वहां निजी तौर पर यात्रा पर गए हैं। मॉरिसन ने कहा कि ये खिलाड़ी अपने संसाधनों से भारत के दौरे पर गए हैं। इसलिए मुझे भरोसा है कि वे अपनी व्यवस्था के अनुसार ही आस्ट्रेलिया लौटेंगे।

आईपीएल मैच के दौरान बैटिंग करता विदेश खिलाड़ी (फाइल फोटो: सोशल मीडिया)
बीसीसीआई ने किया खिलाड़ियों से वादा
ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों की बढ़ती चिंता के बीच उनकी मदद के लिए बीसीसीआई ने कदम बढ़ाया है। बीसीसीआई के सीओओ हेमांग अमीन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को सुरक्षित स्वदेश वापसी का भरोसा दिया है। ऑस्ट्रेलिया के तीन खिलाड़ियों की स्वदेश वापसी के बाद बीसीसीआई की ओर से यह बयान जारी किया गया है। ऑस्ट्रेलिया के तीन खिलाड़ी एंड्रयू टाई, केन रिचर्डसन एडम जांपा ने आईपीएल से हटने का फैसला किया है।

खिलाड़ियों की स्वदेश वापसी का होगा प्रबंध

अमीन ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को इस बाबत चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि बीसीसीआई उनकी स्वदेश वापसी के लिए हर संभव कदम उठाएगा ताकि वे अपने देश बिना किसी दिक्कत के लौट सकें। उन्होंने कहा कि हम स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं। बीसीसीआई ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को स्वदेश पहुंचाने के लिए सरकारी अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रहा है।

कोरोना के कहर ने बढ़ाई चिंता

दरअसल देश में कोरोना का कहर बढ़ने के बाद आईपीएल पर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं और खास तौर पर विदेशी खिलाड़ी स्वदेश वापसी को लेकर चिंतित और परेशान हैं। इन विदेशी खिलाड़ियों की चिंता को दूर करने के लिए ही बीसीसीआई ने पहल की है। आईपीएल का मुकाबला अभी लंबे समय तक चलना है क्योंकि फाइनल मुकाबला 30 मई को अहमदाबाद में खेला जाएगा। ऐसे में माना जा रहा है कि बीसीसीआई के आश्वासन के बाद आईपीएल में हिस्सा ले रहे विदेशी खिलाड़ियों में थोड़ी निश्चिंतता आएगी।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story