×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

झारखंड में विधायकों की खरीद-फरोख्त, BJP ने की SIT गठन की मांग

झारखंड मुक्ति मोर्चा के आरोप से गुस्साए भाजपा ने पूरे मामले की एसआईटी से जांच की मांग की है

Ragini Sinha
Published By Ragini Sinha
Published on: 25 July 2021 5:10 PM GMT
BJP demands formation of SIT in Jharkhand
X

झारखंड में BJP ने की SIT गठन की मांग

झारखंड में कथित तौर पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का मामला राजनीतिक रंग लेने लगा है. सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा के आरोप से बौखलाए राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी भाजपा ने पूरे मामले की एसआईटी से जांच की मांग की है. भाजपा विधायक दल के नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कहा कि, सरकार सिटिंग जज की अध्यक्षता में कमेटी गठित कर पूरे मामले की जांच करे. बाबूलाल मरांडी रविवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में मीडिया कर्मियों को संबोधित कर रहे थे.

झारखंड में विधायकों की खरीद-फरोख्त, BJP ने की SIT गठन की मांग

महाराष्ट्र मॉडल पर झारखंड सरकार

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सरकार पर महाराष्ट्र मॉडल पर काम करने का आरोप लगाया है. रांची में मीडिया कर्मियों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, जिस तरह महाराष्ट्र की सत्ता में बैठे लोग ही पैसों की उगाही में जुटे हैं उसी तरह हेमंत सोरेन की सरकार भी काम कर रही है. उन्होंने कहा कि, हाल ही में राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के सुपुत्र को ट्विटर पर फॉलो करना भी शुरू कर दिया है.

पैसों की उगाही में जुटी है सरकार

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार को अस्थिर करने के लग रहे आरोपों का बीजेपी ने जवाब दिया है. पार्टी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि, पैसों की उगाही के लिए पूरी साजिश रची गई है. उन्होंने कहा कि सरकार के हाथ में सब कुछ है. वह एसआईटी का गठन कर पूरे मामले की जांच करा ले. उन्होंने पार्टी पर लग रहे आरोपों को सिरे से खारिज किया

अब तक 3 लोगों की गिरफ्तारी

कथित तौर पर विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर रांची पुलिस ने 3 आरोपियों की गिरफ्तारी का दावा किया है. गिरफ्तारी के दौरान इन लोगों के पास से ₹2 लाख की भी बरामद की हुई है. हालांकि, गिरफ्तार लोगों के परिजनों ने पुलिस के आरोपों को बेबुनियाद बताया है। पीड़ित परिवारों की माने तो गिरफ्तार लोग छोटे-मोटे कारोबार से जुड़े हैं। लिहाजा उन्हें जानबूझकर फंसाया गया है.

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story