Top

Jharkhand News: आकाशीय बिजली का कहर, झारखंड में 9 की मौत, एक परिवार के 5 लोग शमिल

Jharkhand News: झारखंड के कई जिलों में आकाशीय बिजली के कहर से 9 लोगों की मौत हो गई है, इसमें खूंटी के एक ही परिवार के 5 लोग शामिल थे।

Network

NetworkNewstrack NetworkShreyaPublished By Shreya

Published on 4 July 2021 1:23 AM GMT

Jharkhand News: आकाशीय बिजली का कहर, झारखंड में 9 की मौत, एक परिवार के 5 लोग शमिल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आकJharkhand News: झारखंड में तेज बारिश (Heavy Rain) का सिलसिला जारी है। कल यानी शनिवार को भी राज्य के कई जिलों में झमाझम बारिश (Rainfall) दर्ज की गई है। इसी के साथ राज्य में बारिश के बीच आकाशीय बिजली (Lightning) का कहर देखने को मिला। झारखंड के खूंटी, पलामू, चतरा, लोहरदगा समेत पांच जिलों में वज्रपात से 9 लाेगाें की जान चली गई। सबसे अधिक मौतें खूंटी में दर्ज की गई हैं।

बताया जा रहा है कि खूंटी के कर्रा स्थित लरता गांव के डहुटोली में शनिवार शाम को वज्रपात की चपेट में आने से एक ही परिवार के पांच सदस्यों की मौत हो गई है, जबकि परिवार का एक ढाई साल का बच्चा झुलस गया है। खूंटी के उपायुक्त शशिरंजन के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, परिवार के सभी लोग खेत में काम कर रहे थे तभी अचानक बारिश होने पर इन्होंने एक पेड़ के नीचे ही शरण ले ली। तभी वज्रपात होने से करीब शाम चार बजे यह घटना हुई।

आकाशीय बिजली (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

आकाशीय बिजली की चपेट में आकर दो महिलाओं समेत परिवार के पांच लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि परिवार का एक मासूम झुलस गया। मृतकों की पहचान मंगा मुंडा (55), उनकी पत्नी जिवंती मुंडाइन (45), उनका बेटा पुना मुंडा (32), उनकी बहू जयमा मुंडाइन (30) और पुना का पुत्र आयुष मुंडा (5) शामिल हैं। वहीं, वज्रपात में मौके पर मौजूद मंगा की 6 साल की पोती बाल-बाल बच गयी और उसे कोई नुकसान नहीं हुआ।

स्थानीय विधायक ने घटना पर प्रकट किया शोक

वहीं, घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर अस्पताल भेजा। खूंटी के उपायुक्त शशिरंजन ने बताया कि हादसे में बची बेटी को तत्काल राहत के तौर पर दस हजार रुपये दे दिए गए हैं। आगे नियम के मुताबिक, वज्रपात में मारे गए प्रत्येक परिजन के लिए चार लाख रुपये की राशि परिवार को दी जाएगी। इस घटना पर स्थानीय विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने शोक प्रकट किया है।

यहां भी वज्रपात से मौतें

इसके अलावा पलामू के विश्रामपुर में मछली पकड़ते वक्त सतीश कुमार (18) की आकाशीय बिजली के चलते मौत हो गई। चतरा के हंटरगंज स्थित बेला गांव में खेल रहे छह साल का बच्चा भी वज्रपात की चपेट में आया और दम तोड़ दिया। इसके अलावा रांची के लापुंग में भी सुनीता देवी (38) और लोहरदगा के कुड़ू स्थित बड़मारा गांव में नरेश साहू (35) की मौत भी आकाशीय बिजली के चलते हुई है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story