×

Career in Company Secretary: कंपनी सेक्रेटरी में करियर

Career in Company Secretary: कंपनी सेक्रेटरी कॉरपोरेट सेक्टर के प्रबंधन में बराबर का सहयोगी होता है। कंपनी सेक्रेटरी पास करने के बाद एक व्यक्ति आसानी से अधिकारी का पद प्राप्त कर सकता है।

Sarojini Sriharsha
Updated on: 30 Jun 2022 7:20 AM GMT
Job news
X

कंपनी सेक्रेटरी में करियर (Social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Company Secretary Job: आज की मुक्त अर्थव्यवस्था में निजी क्षेत्र तेजी से विकास कर रहा है। कंपनी सेक्रेटरी कॉरपोरेट सेक्टर के प्रबंधन में बराबर का सहयोगी होता है। कंपनी सेक्रेटरी पास करने के बाद एक व्यक्ति आसानी से अधिकारी का पद प्राप्त कर सकता है। यदि एक कंपनी सेक्रेटरीज के पास कानून, प्रबंधन एवं अकाउंटिंग की शिक्षा भी हो तो उसे अच्छी नौकरी पाने में और मददगार साबित होगी।

कंपनी सेक्रेटरी को डिपार्टमेंट ऑफ कंपनी अफेयर्स, फाइनेंस, लॉ एंड मर्चेंट बैंकिंग के सेंट्रल कंपनी लॉ सर्विस की अकाउंट शाखा में नौकरी मिलती है। इसके अलावा कंपनी सेक्रेटरी यदि चाहे तो प्राइवेट प्रैक्टिस भी कर सकता है लेकिन इसके पूर्व ' द इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरी ऑफ इंडिया' से प्रमाण पत्र प्राप्त करना आवश्यक है। दि इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरिज ऑफ इंडिया की स्थापना कंपनी सेक्रेट्रीज एक्ट,1980 के अधीन की गई है।

पूरे देश में मात्र यहीं एक व्यावसायिक संस्था है जो कंपनी सेक्रेटरी के व्यवसाय को संचालित एवं नियंत्रित कर सकती है। यह संस्था योग्य सदस्यों को प्रमाण पत्र प्रदान करती है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है जिसके चार क्षेत्रीय कार्यालय कोलकाता, दिल्ली, चेन्नई एवं मुंबई में हैं। संस्थान के चार क्षेत्रीय काउंसिल भी हैं जिनके अधीन पूरे देश में विभिन्न शहरों में 36 चैप्टर काम कर रहे हैं। 10+2 की परीक्षा पास करने के बाद कोई भी व्यक्ति फाउंडेशन कोर्स में प्रवेश पाने के योग्य हो जाता है। जो छात्र स्नातक/परस्नातक हैं एवं आई सी डब्लू ए आई अथवा आई सी ए आई या भारत के किसी अन्य अकाउंटेंसी संस्था की फाइनल परीक्षा पास की हो, उन्हें फाउंडेशन कोर्स की परीक्षा नहीं देनी होती। फाउंडेशन कोर्स के विषय निम्न प्रकार हैं -

(I) बिजनेस कम्युनिकेशन

(II) बिजनेस लॉ एंड मैनेजमेंट

(III)प्रिंसिपल ऑफ अकाउंटेंसी

(IV) इकोनॉमिक्स एंड स्टेटिस्टिक्स

फाउंडेशन कोर्स में प्रवेश लेने हेतु एफ सी वन आवेदन पत्र भरना होता है जिसे संस्थान के मुख्यालय/क्षेत्रीय/चैप्टर कार्यालयों से प्राप्त किया जा सकता है। फाउंडेशन कोर्स के लिए सालों भर प्रवेश चलता रहता है। जिन विद्यार्थियों के नाम मार्च तक रजिस्टर्ड हो जाता है वे दिसंबर में आयोजित होने वाली परीक्षा में उसी वर्ष भाग ले सकते हैं। इसी प्रकार इनका पंजीकरण सितंबर तक हो जाता है। वे अगले वर्ष की जून में आयोजित होने वाली परीक्षा में भाग ले सकते हैं।इस परीक्षा के लिए कोचिंग प्राप्त करना होता है।

यह कोचिंग इसी संस्थान के मुख्यालय द्वारा पोस्टल ट्यूशन के द्वारा चलाया जाता है जो सभी विद्यार्थियों के लिए अनिवार्य है। यह परीक्षा हिंदी या अंग्रेजी किसी एक माध्यम से दी जा सकती है। फाउंडेशन परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद अथवा जिन्हें यह परीक्षा न देने की छूट दी गई है तथा उनकी आयु 17वर्ष से कम न हो, एस टी वन आवेदन पत्र देकर इंटरमीडिएट पाठ्यक्रम के लिए आवेदन कर सकते हैं।

संस्थान के कुल 37 परीक्षा केंद्र हैं जिसमें एक परीक्षा केंद्र दुबई में भी है। संस्थान द्वारा ये परीक्षाएं तीन चरणों में आयोजित की जाती हैं -

(I) फाउंडेशन परीक्षा

(II) इंटरमीडिएट परीक्षा एवं

(III) फाइनल परीक्षा

जो विद्यार्थी द इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरी ऑफ इंडिया की फाइनल परीक्षा उत्तीर्ण हो जाते हैं और कॉस्ट अकाउंटेंसी का भी कोर्स पूरा करना चाहते हो उन्हें आई सी डब्लू ए आई द्वारा आयोजित परीक्षा में कुछ विषयों में छूट भी दी जाती है। साथ ही जो विद्यार्थी कंपनी सेक्रेटरी का कोर्स करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित पते पर प्रवेश फार्म, परीक्षा आदि हेतु पूरी जानकारी के लिए संपर्क करना चाहिए-'आई ए सीआई हाउस 22, इंस्टीट्यूशनल एरिया, लोदी रोड, नई दिल्ली -110003

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story