×

BS Yediyuppa Resignation: इस्तीफे के बाद क्या येदियुरप्पा छोड़ देंगे राजनीति! बताया आगे का प्लान

BS Yediyuppa Resignation: बीएस येदियुरप्पा ने सोमवार को अपना इस्तीफा दे दिया है। जिसके बाद उन्होंने बताया कि उनके आगे का प्लान क्या है।

Network

Newstrack NetworkPublished By Shreya

Published on 26 July 2021 11:16 AM GMT

BS Yediyuppa Resignation: इस्तीफे के बाद क्या येदियुरप्पा छोड़ देंगे राजनीति! बताया आगे का प्लान
X

बीएस येदियुरप्पा (फोटो साभार- ट्विटर)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

BS Yediyuppa Resignation: बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa Resigns) ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री (Karnataka Chief Minister) पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने राज्यपाल थावरचंद गहलोत को अपना इस्तीफा सौंपा है। जाहिर है कि बीते दिनों जब मुख्यमंत्री को अचानक हाईकमान ने दिल्ली बुलाया तब से ही उन्हें हटाए जाने की अटकलें तेज हो गई थीं। हालांकि तब येदियुरप्पा ने इस्तीफे की बात से इनकार किया था।

राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो 78 साल के येदियुरप्पा से उनकी बढ़ती उम्र को देखते हुए भी इस्तीफा लिया गया है। क्योंकि जब येदियुरप्पा मई 2018 में मुख्यमंत्री बनाए जा रहे थे तब भी उनकी बढ़ती उम्र को लेकर उनका विरोध हुआ था, हालांकि इस बात को नजरअंदाज करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें सूबे की कमान सौंपी थी।

आगे क्या करेंगे बीएस येदियुरप्पा?

खैर, सोमवार को हुए बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) के इस्तीफे के बाद दो नई बहस छिड़ गई है कि अब पार्टी सूबे की कमान किसे सौंपेगी, वैसे इस रेस में बसवराज बोम्मई, विश्वेश्वरा हेगड़े कगेरी और प्रह्रलाद जोशी के नामों पर चर्चा चल रही है। इसके अलावा ये भी सवाल उठ रहे हैं कि आखिर येदियुरप्पा अपने इस्तीफे क बाद आगे क्या करेंगे।

बीएस येदियुरप्पा (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

इस पर अपनी स्थिति साफ करते हुए लिंगायत नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि उनके राज्य को छोड़कर कहीं और राज्यपाल बनने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता। उन्होंने बताया कि वो आगे कर्नाटक के लोगों के कल्याण के लिए अपना काम जारी रखेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी आलाकमान द्वारा उन्हें जो भी काम दिया जाएगा, वो करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा, मैं अपना 100 फीसदी दूंगा। साथ ही मेरे समर्थक भी पार्टी का पूरा साथ देंगे।

येदियुरप्पा के मुताबिक, मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के बाद उनमें असंतोष की कोई भावना नहीं है। उन्होंने खुद यह फैसला लिया है और किसी ने उन पर पद छोड़ने के लिए दबाव नहीं डाला है। लिंगायत नेता ने कहा कि मैं आने वाले चुनाव में भाजपा को सत्ता में वापस लाने के लिए काम करूंगा। येदियुरप्पा ने बताया कि उन्होंने अपने उत्तराधिकारी के नाम का सुझाव नहीं दिया है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story