×

SSLC Exams 2021: कर्नाटक हाईकोर्ट ने खारिज की परीक्षा रद्द करने वाली याचिका, अब संक्रमित छात्र भी लेंगे हिस्सा

SSLC Exams 2021:

Network

NetworkNewstrack NetworkSatyabhaPublished By Satyabha

Published on 12 July 2021 2:01 PM GMT

SSLC Exams 2021: कर्नाटक हाईकोर्ट ने खारिज की परीक्षा रद्द करने वाली याचिका, अब संक्रमित छात्र भी लेंगे हिस्सा
X

कर्नाटक उच्च न्यायालय फोटो- सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

SSLC Exams 2021: कर्नाटक उच्च न्यायालय (Karnataka High Court) ने सोमवार को राज्य सरकार के 10वीं माध्यमिक विद्यालय छोड़ने का प्रमाणपत्र (एसएसएलसी) परीक्षा को भौतिक रूप में आयोजित करने के फैसले को मंजूरी दे दी है। सुनवाई में हाईकोर्ट ने छात्रों के हित में फैसला तेले हुए 19 जुलाई से भौतिक रूप में एसएसएलसी परीक्षा आयोजित करने के निर्णय के खिलाफ जनहित याचिका को रद्द कर दिया है।

कर्नाटक सरकार ने पहले ही एसएसएलसी परीक्षा के लिए 19 और 20 जुलाई की तारीखों की घोषणा की थी। परीक्षा मुख्य विषयों गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान आदि के लिए 19 जून को सुबह 10:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक होंगी। दूसरी भाषा की परीक्षा 20 जुलाई को होगी। कर्नाटक के प्राथमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने बीते मंगलवार को ही तारीखों की घोषणा की थी। उन्होंने कोरोना गाइडलाइन के तहत परीक्षा केंद्रों की सफाई, धारा 144 लागू करने और संक्रमित छात्रों के लिए अलग कमरे की भी घोषणा की थी।

अपने घर के पास ही परीक्षा देंगे छात्र

इस साल छात्रों को अपने घरों के पास के केंद्रों पर परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी। कोरोना पॉजिटिव छात्र जो परीक्षा देना चाहते हैं, उन्हें कोविड-देखभाल केंद्रों या अस्पतालों से परीक्षा देने की अनुमति दी जाएगी। जबकि परीक्षा में भाग लेने में असमर्थ कोरोना पॉजिटिव छात्रों को अगले साल फ्रेशर्स के रूप में अनुमति दी जाएगी।

8,76,581 छात्र देंगे परीक्षा

बता दें कि इस साल एसएसएलसी परीक्षा में 8,76,581 छात्र शामिल होंगे। एक कमरे में 12 छात्रों को ही बैठाया जाएगा। इसके लिए 73 हजार कक्षों की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा जिन शिक्षकों ने कोविड वैक्सीन लगवाई है वही परीक्षा में शामिल हों सकेंगे। सभी छात्रों को सर्जिकल मास्क और कोरोना पॉजिटिव छात्रों को एन-95 मास्क दिया जाएगा। पिछले साल हुई परीक्षा में 8.46 लाख से अधिक छात्र शामिल हुए थे।

Satyabha

Satyabha

Next Story