Top

विजयन ने केंद्र के गैर भाजपा मुख्यमंत्रियों को किया गोलबंद, दबाव बनाने को कहा

ममता बनर्जी के साथ-साथ अब केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा ले लिया है।

Neel Mani Lal

Neel Mani LalWritten By Neel Mani LalAshiki PatelPublished By Ashiki Patel

Published on 1 Jun 2021 6:55 AM GMT

Kerala CM  Pinarayi Vijayan
X

Kerala CM Pinarayi Vijayan (Photo-Social Media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के साथ-साथ अब केरल (Kerala) के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन (Chief Minister Pinarayi Vijayan) ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा ले लिया है। विजयन एक कदम आगे बढ़ते हुए गैर भाजपा मुख्यमंत्रियों को एकजुट करने में लग गए हैं।

पिनरई विजयन ने 11 गैर-भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर केन्द्र पर वैक्सीन खरीदने और मुफ्त वितरण का दबाव बनाने के लिए एकजुट होने की अपील की है। साथ ही ममता बनर्जी ने तो सभी मुख्यमंत्रियों का आह्वान किया है कि वे पीएम मोदी (PM Modi) के खिलाफ एकजुट हों और बिना डरे आवाज उठाएं।

दबाव बनाना होगा

विजयन ने तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, झारखंड, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रियों को लिखे पत्र में कहा है कि, जब देश महामारी की दूसरी लहर से गुजर रहा है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि केंद्र वैक्सीन (Vaccine) खरीदने, मुफ्त सार्वभौमिक वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने संबंधी अपने कर्तव्य से बचना चाहता है।


केंद्र सरकार को वैक्सीन की खरीद कर लोगों को मुफ्त में लगानी चाहिए। वैक्सीन खरीद की जिम्मेदारी राज्यों पर डालने से सभी राज्यों की वित्तीय स्थित प्रभावित होगी। केंद्र की ऐसी नीति के खिलाफ सभी राज्यों को एकजुट होना होगा। समय की मांग है कि दबाव बनाने के लिए संयुक्त प्रयास किये जाएं ताकि केन्द्र तुरंत एक्शन ले। विजयन ने ये भी कहा कि विशेषज्ञों ने तीसरी लहर की चेतावनी दी है। ऐसे में तैयारी और सतर्कता जरूरी है।

कंपनियां मुनाफा कमाने में जुटीं

विजयन ने कहा है कि देश की वैक्सीन निर्माता कंपनियां स्थिति का फायदा उठाकर मुनाफा हासिल करने में लगी हुई हैं और विदेशी दवा कंपनियां वैक्सीन की खरीद के लिए राज्यों के साथ समझौता करने को तैयार नहीं हैं। ये बहुत खराब स्थिति है।

Ashiki

Ashiki

Next Story