मोदी-ट्रंप के ज्वाइंट स्टेटमेंट की 12 बड़ी बातें, टेररिज्म का होगा जड़ से खात्मा

Published by June 27, 2017 | 10:53 am
modi-trump

वॉशिंगटन: अमेरिका के व्हाइट हाउस में ज्वाइंट स्टेटमेंट के दौरान इंडिया के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टेररिज्म को जड़ से खत्म करने की बात की है। ट्रंप ने कहा कि हम लोग कट्टर इस्लामिक टेररिज्म को खत्म करेंगे।

बिना पाकिस्तान का नाम लिए हुए पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद और आतंकियों की सुरक्षित पनाहगाहों को खत्म करना हमारा पहला काम है। किसी देश को टेररिज्म के लिए अपनी जमीन का प्रयोग रोकना होगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि 26/11 के मुंबई हमले और पठानकोट अटैक के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी होगी।

पीएम मोदी ने ट्रंप की बेटी इवान्का को इंडिया आने का इनविटेशन दिया, जिसे उन्होंने एक्सेप्ट कर लिया। डेलिगेशन लेवल की इस मीटिंग के दौरान पीएम मोदी और ट्रंप दो बार गले मिले। बता दें कि पीएम मोदी की डोनाल्ड ट्रंप के साथ ये पहली मुलाकात है।

यह हैं ज्वाइंट स्टेटमेंट की ख़ास 12 बड़ी बातें..

1) सुधरेंगे इंडिया और अमेरिका के रिलेशन: ज्वाइंट स्टेटमेंट में ट्रंप ने कहा कि इंडिया और अमेरिका के रिलेशन कभी इतने बेहतर नहीं रहे इंडिया दुनिया की तेजी से बढ़ती हुई इकोनॉमी है। मुझे उम्मीद है कि हम जल्द ही आपके लेवल पर आ पाएंगे।

2) टेररिज्म को करेंगे खत्म: इंडिया और यूएस के बीच सिक्योरिटी पार्टनरशिप काफी जरूरी है। टेररिज्म ने दोनों ही देशों को नुकसान पहुंचाया है और हम दोनों आतंकी संगठनों, कट्टरपंथी सोच को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। कट्टरपंथी इस्लामिक टेररिज्म को खत्म करेंगे।”

3) ट्रंप ने पीएम मोदी का थैंक्स करते हुए कहा कि ‘शुक्रिया, पीएम मोदी, हमारे साथ यहां होने के लिए आपका शुक्रिया। हमारे लिए आपके देश और आपके लोगों के लिए काफी रिस्पेक्ट है। मैंने अपने कैम्पेन के दौरान कहा था कि इंडिया अमेरिका का सच्चा दोस्त होगा। मेरे मन में हमेशा इंडिया और इंडियंस के लिए गहरा सम्मान रहा है। आपके कल्चर और ट्रेडिशन के लिए रिस्पेक्ट रही है।

4) आगे ट्रंप ने कहा कि ‘दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र से मोदी जैसे लीडर का स्वागत करके मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मोदी और मैं दोनों सोशल मीडिया में वर्ल्ड लीडर्स हैं। मैंने अपने कैम्पेन के दौरान कहा था कि इंडिया अमेरिका का सच्चा दोस्त साबित होगा और जो कि हुआ है।’

आगे की स्लाइड में जानिए इस ज्वाइंट स्टेटमेंट की और भी ख़ास बातें

5) ट्रंप बोले कि ‘मोदी ने मेरी बेटी इवान्का को अमेरिकन डेलिगेशन के साथ इंडिया आने का न्यौता दिया है, जो कि मुझे लगता है कि उसने स्वीकार कर लिया है।”

6) इसके बाद पीएम मोदी ने वहां मौजूद सबका शुक्रिया अदा किया और आभार जताया उन्होंने कहा कि ट्रंप के मित्रता भरे वेलकम, व्हाइट हाउस में शानदार मेहमान नवाजी के लिए आभार व्यक्त करता हूं। आपने मेरे लिए, इंडिया के लिए जो फीलिंग्स जताई, उसके लिए आभारी हूं। मैंने ट्रंप की बेटी इवान्का को न्यौता दिया, उन्होंने एक्सेप्ट किया। मैं उनका स्वागत करने के लिए इंतजार कर रहा हूं। आपने (ट्रंप) मेरे साथ इतना टाइम बिताया, उसके लिए मैं आपका आभारी हूं।”

7) इस मौके पर मोदी बोले कि ‘ये यात्रा और बातचीत दोनों देशों के इतिहास का यादगार पन्ना साबित होगी। मेरी और राष्ट्रपति की बातचीत हर तरह से काफी इम्पोर्टेन्ट रही है। क्योंकि ये भरोसे पर बेस्ड थी। ये हमारी वैल्यूज, प्रियारिटीज, चिंताओं और रुचियों में इक्वालिटी पर बेस्ड थी। ये इंडिया और यूएस के बीच कोलैबरेशन और एंगेजमेंट की चरम सीमाओं की उपलब्धि पर केंद्रित है।’

8) पीएम मोदी ने कहा कि ‘इंडिया और अमेरिका ग्रोथ के ग्लोबल इंजन हैं। दोनों देशों और समाजों का इकनोमिक डेवलपमेंट ट्रंप और मेरा मुख्य टार्गेट है और आगे भी रहेगा।”

9) मोदी ने कहा कि ‘टेररिज्म जैसी चुनौतियों से हमारे समाजों की रक्षा हमारी टॉप प्रायोरिटी है। मीटिंग में हमने टेररिज्म, एक्स्ट्रीमिज्म और रेडिकलाइजेशन से विश्व में पैदा हुई चुनौतियों पर चर्चा की और अपना सहयोग बनाने पर भी सहमति बनाई। टेररिज्म से लड़ना और टेररिस्ट्स की सुरक्षित पनाहगाहों को खत्म करना हमारी सहभागिता का ख़ास हिस्सा होगा। इसमें इंटेलिजेंस और सूचना के आदान-प्रदान को बढ़ाएंगे, पॉलिसी कोऑर्डिनेशन को मजबूत करेंगे।”

आगे की स्लाइड में जानिए इस ज्वाइंट स्टेटमेंट की और भी ख़ास बातें

10) आगे मोदी ने कहा कि ‘सुरक्षा चुनौतियों के इश्यू पर भी हमने चर्चा की है। अमेरिका द्वारा भारत की डिफेंस कैपेबिलिटी के सशक्तिकरण की हम तारीफ करते हैं। हमने हर प्रकार से अपने बीच मैरीटाइम सिक्युरिटी कोऑपरेशन को बढ़ाने का डिसीजन लिया है। दोनों देशों के बीच डिफेंस टेक्नोलॉजी, ट्रेड तथा मैन्युफैक्चरिंग की सुदृढ़ता दोनों देशों के लिए फायदेमंद होगी। इंटरनेशनल लेवल पर सामरिक हितों पर जोर दिया है। यूनाइटेड स्टेट से मिलते लगातार समर्थन के लिए हम आभारी हैं। ये हम दोनों के हित में है। भारत और मेरे प्रति मित्रभाव के लिए मैं हृदय से धन्यवाद करता हूं। मुझे यकीन है कि आपके नेतृत्व में हमारी म्यूचुअल बेनिफिशियल स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप को नई ऊंचाई मिलेगी।”

11) इसके बाद उन्होंने कहा कि ‘अफगानिस्तान में टेररिज्म के कारण बढ़ती अस्थिरता हमारी समान चिंता का विषय है। हमने अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण और सुरक्षा में भूमिका निभाई है। हम वहां शांति और स्थिरता के लिए यूएस से क्लोज कंसल्टेशन, कम्युनिकेशन और कोऑर्डिनेशन बनाए रखेंगे। इंडो पैसिफिक रीजन में खुशहाली, शांति और स्थिरता हमारे स्ट्रैटजिक कोऑपरेशन के मुख्य उद्देश्य हैं।”

12) आखिरी में उन्होंने कहा कि इंडिया-अमेरिका की इस यात्रा में एक उत्तम नेतृत्व के लिए आपका आभार है। दोनों देशों की साझी विकास की यात्रा में मैं आपका ड्रिवेन, डिटरमिन और डिसाइसिव पार्टनर रहूंगा। आपसे बातचीत अच्छी रही है। स्टेज छोड़ने से पहले में आपको सपरिवार भारत यात्रा के लिए इनविटेशन देता हूं। उम्मीद है कि आप मुझे इंडिया में अपने स्वागत सत्कार का चांस देंगे।”