Top

#KamalaMills : मोजो बिस्ट्रो और वन-एबव के प्रबंधक गिरफ्तार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 Jan 2018 11:23 AM GMT

#KamalaMills : मोजो बिस्ट्रो और वन-एबव के प्रबंधक गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई : कमला मिल्स कंपाउंड में 29 दिसंबर को लगी आग की घटना के सिलसिले में पब के दो प्रबंधकों को गिरफ्तार किया गया है। इस हादसे में 14 लोगों की जान चली गई थी और 55 लोग झुलस गए थे। यह जानकारी सोमवार को मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने दी। वन एबव के प्रबंधक केविन बावा (35) और लिस्बन लोपेज (34) को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

मुंबई पुलिस के प्रवक्ता दीपक देवराज ने बताया कि दोनों को सोमवार दोपहर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया।

जांच अधिकारियों के मुताबिक, आग लगने पर घबराए हुए ग्राहकों को सुरक्षित आपातकाली रास्तों से निकालने के बजाए बावा और लोपेज कथित तौर पर मौके से भाग गए थे। अगर दोनों प्रबंधक अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते तो हताहतों की संख्या कम होती।

ये भी देखें : ऑल वुमन लास्ट नाइट #KamalaMills ! प्राथमिकी दर्ज, लुकआउट नोटिस जारी

इससे पहले रविवार को पुलिस ने वन-एबव पब के फरार मालिक व साझेदार, कृपेश संघवी और जिगर संघवी के रिश्तेदार राकेश संघवी (46) और राकेश के बेटे आदित्य (26) को उनको आश्रय देने व गिरफ्तारी में बाधा पहुंचाने को लेकर दबोच लिया। पुलिस मामले में अन्य साझेदार, मालिक और उनके सहयोगियों की तलाश कर रही है।

आग की घटना के चंद घंटे बाद पुलिस ने शुक्रवार को मोजो बिस्ट्रो और वन-एबव के मालिकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 (मानव-वध का आपराधिक मामला, जोकि हत्या की कोटि में नहीं आता है) समेत भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (मध्य) एस. जयकुमार के मुताबिक, राकेश संघवी और उनके पुत्र आदित्य उसी भवन के 16वें माले पर रहते हैं, जिसमें कृपेश का भी एक फ्लैट है। आग के हादसे के बाद आरोपियों को पनाह देने के आरोप में दोनों को गिरफ्तार किया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story