×

HC 150: राष्ट्रपति ने कहा-समय पर मिले न्‍याय, नियुक्‍त करेंगे नए जज

Admin

AdminBy Admin

Published on 13 March 2016 10:00 AM GMT

HC 150: राष्ट्रपति ने कहा-समय पर मिले न्‍याय, नियुक्‍त करेंगे नए जज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

इलाहाबाद: हाईकोर्ट के 150 साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर आयोजित सभा में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया टीएस ठाकुर और गवर्नर राम नाईक, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कानून मंत्री सदानंद गौड़ा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

राष्ट्रपति ने कहा...

-यहां आकर खुशी महसूस कर रहा हूं।

-इलाहाबाद से कई महान विभूतियां हुईं, इलाहाबाद हाईकोर्ट का इतिहास गौरवपूर्ण है।

-हाईकोर्ट से लोगों को न्याय मिल पाता है।

-राजेन्द्र प्रसाद ने हाईकोर्ट की नई विंग शुरू की थी, न्याय विभाग ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

-इसी शहर ने देश को पहला प्रधानमंत्री दिया था।

-लोकतंत्र के 3 स्तंभों में न्यायपालिका का महत्वपूर्ण स्थान।

-जजों के रिक्त पदों को भरने का प्रयास करूंगा,लंबित वादों को निपटाने के लिए रिक्त पदों पर भर्ती।

- जिससे लंबित वादों का जल्द निपटारा हो सके, केंद्र और राज्य सरकार इसके लिए सहयोग करेंगी।

-लोकतंत्र के 3 स्तंभों में न्यायपालिका का महत्वपूर्ण स्थान।

-मेक इन इंडिया के कार्यक्रम को लागू करने में भी लाभ होगा।

-150 सालों से गौरवपूर्ण, इलाहाबाद हाईकोर्ट का इतिहास,आगे भी बरक़रार रखेंगे मुझे विश्वास है।

-दुनिया में कोर्ट की महत्‍ता मंदिर के बराबर है, न्‍याय के इस मंदिर में आने वालों को न्‍याय जरूर मिलता है।

-आज के दौर में देश की सभ्‍ाी कोर्ट लगभग हाईटेक हो चुकी हैं।

-जहां अभी काम बाकी है, वहां तेजी से काम चल रहा है।

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने कहा...

-उत्तर प्रदेश काफी बड़ा राज्य है और इलाहबाद हर क्षेत्रों में अलग है। इसलिए इस प्रदेश पर काफी जिम्मेदारी है।

-आगे और चुनौती है इसे भी हमे स्वीकरना होगा। बार के बिना कोर्ट अधूरा है।

-10 लाख केस पेंडिंग हैं सभी की मेहनत से ये भी निपटेगा।

-सीजेआई ने इलाहाबाद के पूर्व अधिवक्ता मोती लाल नेहरू, जवाहर लाल नेहरू,तेज बहादुर सप्रू को याद करते हुए हाइकोर्ट के साथ इलाहाबाद की खूब प्रशंसा की।

-अगर बार सहयोग दे तो शनिवार को भी जज बैठेंगे।

राज्यपाल राम नाईक ने कहा...

-ऐसी भूमिका बनाएं कि सर्व सुलभ न्याय मिले। यूपी को आगे ले जाने में हाईकोर्ट का काफी योगदान रहा है।

-कोर्ट पूरी दुनिया में मंदिर के बराबर माना जाता है। खासकर यहां नेहरू और इंदिरा गांधी जैसी शख्सियत रही हैं।

-इन लोगों ने भी ऐतिहासिक काम किए हैं। उम्मीद की जा सकती है कि कम समय में इन केसों को निपटाया जाए।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राष्ट्रपति के साथ सभी अतिथियों का स्वागत किया।

उन्होंने बधाई देते हुए कहा कि यहां विधाओं का संगम होता है।

अखिलेश ने अपनी सरकार के जनता के साथ ही वकीलों के हित में कार्यों का विवरण भी पेश किया।

सीएम ने इलाहाबाद शहर को ऐतिहासिक बताया।

उन्होंने अधिवक्ताओं को लेकर कई घोषणाएं भी की।

इन्होंने किया गंगा स्नान

केंद्रीय ​कानून मंत्री सदानंद गौड़ा, मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर के साथ ही इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति डॉ. डीवाई चंद्रचूड़ ने संगम पर स्नान कर दर्शन पूजन किया।

सेंटर फॉर इन्फॉरमेशन टेक्नोलॉजी का उद्घाटन

मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के नवनिर्मित सेंटर फार इन्फार्मेंशन टेक्नोलॉजी भवन का उद्घाटन किया। स्थापना समारोह के लिए बनाई गई वेबसाइट का उन्होंने शुभारंभ किया।

नीचे की स्‍लाइड्स में देखें तस्‍वीरें...

[su_slider source="media: 14527,14528,14529,14530,14531,14532,14533,14534,14535,14536" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no" autoplay="0" speed="0"] [/su_slider]

Admin

Admin

Next Story