भीम आर्मी का संस्थापक चंद्रशेखर गिरफ्तार, पुलिस प्रशासन अलर्ट

Published by Published: June 8, 2017 | 12:09 pm
Modified: June 8, 2017 | 4:48 pm
chndrashekhar

chndrashekhar

सहारनपुर: पिछले दिनों सहारनपुर में विभिन्न स्थानों पर हुए जातीय दंगे और पुलिस पर किए गए पथराव व फायरिंग के मामले में मुख्य आरोपी बनाए गए भीम आर्मी के संस्थापक अधिवक्ता चंद्रशेखर आजाद को गुरुवार को हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार कर लिया गया है। यह कार्रवाई यूपी और हिमाचल प्रदेश पुलिस ने संयुक्त रुप से की है। किसी भी अनहोनी की आशंका के चलते पुलिस फोर्स की फिर से संवेदनशील और अति संवेदनशील स्थानों पर तैनाती दी गई है। इसके अलावा चेकिंग अभियान भी शुरु कर दिया गया है। दलित स्मारकों व स्थलों पर पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया है।

यह है पूरा मामला
5 मई को सहारनपुर के बड़गांव थाना क्षेत्र के गांव शब्बीरपुर में दलित और ठाकुरों के बीच जातीय संघर्ष हो गया था, जिसके बाद 9 मई को भीम आर्मी एकता मिशन के कार्यकर्ता 5 मई के दंगे में पकड़े गए दलितों की रिहाई की मांग को लेकर शहर के गांधी पार्क में एक सभा आयोजित करने जा रहे थे, लेकिन प्रशासन ने इस सभा की अनुमति नहीं दी थी और गांधी पार्क में शांतिपूर्वक धरना दे रहे दलित युवकों को हिरासत में लिया था। इन युवकों को हिरासत से रिहा करने पर गांव रामनगर में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।

इन युवाओं को जब पुलिस रोकने गई, तो आरोप है कि दलितों और पुलिस के बीच जमकर बवाल हुआ था, जिसमें करीब दो दर्जन वाहनों को आग लगा दी गई थी। इसके बाद  से चंद्रशेखर आजाद फरार चल रहा था। 23 मई को गांव शब्बीरपुर में बसपा सुप्रीमो मायावती गई, तो उनके वापस लौटने पर बलवाईयों ने एक दलित की हत्या कर दी गई थी और सात को गंभीर रुप से घायल कर दिया गया था।

तभी से सहारनपुर पुलिस और क्राइम ब्रांच की कई टीम चंद्रशेखर आजाद की गिरफ्तारी के लिए न केवल आसपास के जिलों बल्कि पड़ोसी राज्यों में भी चंद्रशेखर की तलाश कर रही थी। चंद्रशेखर के भाई कमल किशोर को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था।
हिमाचल प्रदेश में मिली लोकेशन
पुलिस को चंद्रशेखर की लोकेशन पंजाब और हिमाचल प्रदेश में मिल रही थी, जिसके बाद कई दिनों से सहारनपुर पुलिस हिमाचल प्रदेश में डेरा डाले हुए थी। गुरुवार को हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश की पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए चंद्रशेखर को हिमाचल प्रदेश के डलहौजी नामक स्थान से गिरफ्तार कर लिया है। यहां पर चंद्रशेखर एक दलित नेता के यहां शरण लिए हुए था। हालांकि इस बाबत एसएसपी से वार्ता का प्रयास किया गया, लेकिन न तो एसएसपी और न ही डीएम अपने अपने मोबाइल रिसीव कर पा रहे हैं।
आगे की स्लाइड में देखिए कैसे बढ़ा दी गई पुलिस चौकसी

बता दें कि गुरुवार को भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर को हिमाचल प्रदेश से पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। जैसे ही यह खबर सहारनपुर पहुंची तो डीएम पीके पांडे ने सबसे पहले इंटरनेट सेवाओं पर दो दिन के लिए रोक लगा दी। इसके बाद रेपिड एक्शन फोर्स और पैरा मिलिट्री फोर्स के जो जवान वापस लौटने लगे थे, उन सभी को वापस बुला लिया गया है। जनपद में पुलिस ने पीएसी के साथ मिलकर चेकिंग अभियान शुरु करा दिया है। हरियाणा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश की सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गई है, यहां से आने वाले वाहनों की सघन चेकिंग की जा रही है।
जनपद में स्थित दलित स्मारकों पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। शहर के रविदास छात्रावास व बामियान बुद्ध विहार के अलावा गांव शब्बीरपुर, गांव रामनगर, गांव मिर्जापुर व अन्य दलित बाहुल्य गांवों में पुलिस फोर्स की संख्या बढ़ा दी गई है। एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि किसी को भी कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी। जो भी अशांति फैलाने का काम करेगा, उससे सख्ती से निपटा जाएगा।
आगे की स्लाइड में देखिए पुलिस चौकसी की तस्वीरें


आगे की स्लाइड में देखिए पुलिस चौकसी की तस्वीरें

आगे की स्लाइड में देखिए पुलिस चौकसी की तस्वीरें

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App