×

जानिए ईद के दिन लखनऊ समेत कई जगहों पर काली पट्टी बांधकर क्यों पहुंचे मुस्लिम?

By

Published on 26 Jun 2017 6:49 AM GMT

जानिए ईद के दिन लखनऊ समेत कई जगहों पर काली पट्टी बांधकर क्यों पहुंचे मुस्लिम?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ/मुजफ्फरनगर: एक तरफ जहां देश भर में प्यार और भाईचारे का संदेश देने वाले त्योहार ईद को ख़ुशी से मनाया जा रहा है, वहीं कई जगहों पर लोग काली पट्टी बांधकर भी नमाज अदा करने पहुंचे। इन लोगों का मकसद उन लोगों का विरोध करना है, जो हिंदू-मुस्लिमों में नफरत फैला रहे हैं।

हाल ही में कई मुसलमानों की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या का मामला सामने आया है, जिसका मुस्लिम संगठन कड़ा विरोध कर रहे हैं। इसी के चलते विभिन्न संगठनों तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज पढ़ने का आह्वान किया था।

लखनऊ के दारुल उलूम नदवातुल उलेमा कॉलेज में कई लोग काली पट्टी बांधकर पहुंचे और मुस्लिमों पर बढ़ रहे अत्याचारों का विरोध किया। विरोध कर रहे लोगों का कहना था कि अगर उन्होंने आज विरोध नहीं किया, तो कल वह भी भीड़ का शिकार बन सकते हैं। इसी तरह मुजफ्फरनगर और आगरा में भी मुस्लिम लोगों ने कल्ली पट्टी बांधकर अपना विरोध जताया।

आगे की स्लाइड में देखिए कैसे नमाजियों ने जताया विरोध

Darul Uloom Nadwatul Ulama black patti

आगे की स्लाइड में देखिए कैसे नमाजियों ने जताया विरोध

Darul Uloom Nadwatul Ulama black patti

आगे की स्लाइड में देखिए कैसे नमाजियों ने जताया विरोध

Darul Uloom Nadwatul Ulama black patti

आगे की स्लाइड में देखिए कैसे नमाजियों ने जताया विरोध

Darul Uloom Nadwatul Ulama black patti

आगे की स्लाइड में देखिए कैसे मुजफ्फरनगर में जताया नमाजियों ने विरोध

mujaffarnagar1

मुजफ्फरनगर: शहर की सबसे बड़ी ईदगाह पर आज ईद उल फितर की नमाज अदा की गई। लाखों नमाजियों ने ईदगाह पर नमाज पढ़ी और देश में अमन और शांति की दुआएं मांगी। वहीं मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हाथो में काली पट्टी बांधकर देश में बढ़ रही नफरतों के खिलाफ अपना विरोध जताते हुए ईद उल फितर की नमाज पर प्रदर्शन किया।

उनका कहना है कि जो लोग देश में हिन्दू-मुस्लिम भाइयो के बीच नफरत फैला रहे हैं, उनके खिलाफ हमारा प्रदर्शन है। मुसलमान हर उस इंसान के साथ है, जिसके साथ जुल्म हुआ है। चाहे वो हिंदू भाई हो या फिर मुसलमान।

आगे की स्लाइड में देखिए कैसे मुजफ्फरनगर में जताया नमाजियों ने विरोध

आगे की स्लाइड में देखिए कैसे मुजफ्फरनगर में जताया नमाजियों ने विरोध

Next Story