×

गिरी गाज! BSP ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी को राष्ट्रीय सचिव छोड़ सभी पदों से हटाया

aman

amanBy aman

Published on 20 April 2017 12:13 PM GMT

गिरी गाज! BSP ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी को राष्ट्रीय सचिव छोड़ सभी पदों से हटाया
X
गिरी गाज! BSP ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी को राष्ट्रीय सचिव छोड़ सभी पदों से हटाया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: यूपी विधानसभा चुनावों में करारी शिकस्त के बाद एक्शन लेते हुए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सभी पदों से हटाया दिया है। नसीमुद्दीन अब सिर्फ राष्ट्रीय सचिव पद पर ही रहेंगे। बता दें, कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने जल्द ही पार्टी में बड़े बदलाव के संकेत दिए थे।

इससे पहले हाल ही में मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया था। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा था, कि वह कभी सांसद, विधायक या मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे। गौरतलब है, कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी बसपा का बड़ा मुस्लिम चेहरा हैं। सिद्दीकी की वेस्ट यूपी में अच्छी पकड़ है।

सबसे अधिक मुसलमानों को टिकट देने का आरोप

इससे पहले मायावती ने कहा था, कि चुनावों के दौरान हमारे खिलाफ दुष्प्रचार किया गया। कहा, कि 'हमारे ऊपर सबसे ज्यादा मुसलमानों को टिकट देने का आरोप लगाया और दुष्प्रचार किया गया। कहा गया ऐसे में तो यूपी पाकिस्तान बन जाएगा।

अब जहर से जहर को काटना होगा

जबकि, महागठबंधन पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, कि 'बीजेपी विरोधी पार्टियां अगर मेरे साथ आना चाहती हैं, तो हमें कोई परहेज नहीं है। उन्होंने कहा कि अब जहर से जहर को काटना होगा।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story