×

नींव खुदाई के दौरान बिल्डिंग गिरी, आधा दर्जन से अधिक मजदूर दबे

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 11 May 2016 2:52 PM GMT

नींव खुदाई के दौरान बिल्डिंग गिरी, आधा दर्जन से अधिक मजदूर दबे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ: गढ़ रोड पर एक बिल्डिंग निर्माण के दौरान लिंटर गिर गया। वहां काम कर रहे आधा दर्जन से अधिक मजदूर दब गए। निर्माणाधीन भवन के गिरने से हड़कंप मच गया। लोग मलबे में दबे लोगों को बचाने के लिए दौड़े। देर रात एक मजदूर को एनडीआरएफ की टीम ने बाहर निकाला। मजदूर मुनेश को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है।

मलबे से एक मजदूर निकाला जिंदा

-बिल्डिंग के मलबे से एक मजदूर को जिंदा निकाल लिया गया है।

-मुनेश नाम के मजदूर को रात एक बजे एनडीआरएफ की टीम ने बाहर निकाला।

-उसको हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है।

यह भी पढ़ें...अरुणाचल में धरती खिसकी, फाइव स्टार होटल बना रहे 15 मजदूरों की जान गई

-मुनेश ने मलबे के अंदर दबे होने की जानकारी मोबाइल से पिता राजपाल को दी।

-उसका फोन आते ही परिजनों को उम्मीद दिखाई दी।

-उसके बाद राहत कार्य तेज करते हुए मुनेश को जिंदा बाहर निकाल लिया गया।

-मुनेश ने कहा कि अभी और भी लोग दबे हुए हैं।

बेंसमेट में चल रही थी खुदाई

-मित्रलोक कॉलोनी के पास एक नर्सिंग होम बनाने के लिए बेसमेंट की खुदाई का काम चल रहा था।

-इसी दौरान बगल का तीन मंजिला मकान भरभरा कर गिर गया।

-इस हादसे में नींव खोद रहे आधा दर्जन से अधिक मजदूरों के दबे होने की आशंका है।

यह भी पढ़ें...तेज आवाज में बज रहा था DJ, नीचे नाच रहे थे बराती, ऊपर से गिर गया छज्जा

मौके पर पहुंची पुलिस

-हादसे के बाद लोग मलबे में दबे लोगों को बचाने के लिए दौड़े।

-हादसे की सूचना पर भी पुलिस मौके पर पहुंची।

-बाद में कई थानों की पुलिस फोर्स को भी मौके पर बुला लिया गया।

-तीन मंजिला मकान गिरा वह मुकेश गोयल नाम के व्यक्ति का बताया जा रहा है।

-वहीं नर्सिंग होम का निर्माण मेरठ के ही एक डॉक्टर द्वारा कराए जाने की बात सामने आ रही है।

-मौके पर एसपी सिटी और एडीएम पहुंच गए।

-मलबे में दबे मजदूरों को निकालने के लिए कई जेसीबी लगाई गई है।

यह भी पढ़ें...टॉफी लेकर लौट रहे भाई बहन पर गिरी दीवार, दोनों की मौके पर हुई मौत

इस मामले में एमडीए के जोनल अधिकारी अजय त्यागी, जेसीबी चालक रईस समेत चार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। अधिकारियों का कहना है कि जब तक मलबे के अंदर से मजदूरों को बाहर नहीं निकाल लिया जाएगा राहत कार्य जारी रखा जाएगा।

Newstrack

Newstrack

Next Story