Top

बुराड़ी कांड: तीन दिन बाद तीसरे भाई ने 11 पाइपों का खोला राज, किए चौंकाने वाले खुलासे

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 4 July 2018 4:59 AM GMT

बुराड़ी कांड: तीन दिन बाद तीसरे भाई ने 11 पाइपों का खोला राज, किए चौंकाने वाले खुलासे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: दिल्ली में बुराड़ी के संत नगर में रविवार को एक घर से संदिग्ध स्थिति में 11 शवों के मिलने के बाद पुलिस अभी तक इस रहस्य को सुलझा नहीं पाई है। जहां इस मामले को लेकर पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है तो वहीं जांच के दौरान कुछ हैरान कर देने वाली चीजें उजागर हुई हैं। दरअसल, चित्तौड़गढ़ में रहने वाले तीसरे भाई दिनेश घटना के तीन दिन बाद सामने आए हैं।

यह भी पढ़ें: घर में संदिग्ध स्थिति में मिले 11 लोगों की मौत का वीडियो वायरल

इस मामले में दिनेश का कहना है कि उनके घर में परिवार की मौत के पीछे तंत्र-मंत्र और धर्मांधता या किसी तांत्रिक का हाथ नहीं है। यही नहीं, दिनेश उन 11 पाइपों के रहस्य से भी पर्दा उठाया। दिनेश ने कहा कि उनके भाई का प्लाईवुड का काम था, जिसकी वजह से घर में काफी गैस बनती थी। इसलिए पाइपों को लगवाया गया था ताकि गैस निकलती रहे।

यह भी पढ़ें: पुलिस के हाथ लगे रजिस्टर में लिखी थी 30 जून को भगवान से मिलने की बात

दिनेश ने ये भी कहा कि उनका परिवार धार्मिक था लेकिन अंधविश्वास नहीं था। ऐसे में ये आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या का मामला है। दिनेश और सुजाता का कहना है कि इन पाइपों का इस्तेमाल पाइप वेंटिलेशन और एक सोलर प्रोजेक्ट के लिए किया जाता था।

बुराड़ी कांड का हुआ था वीडियो भी हुआ था वायरल

बुराड़ी कांड एक वीडियो भी काफी तेजी से वायरल हुआ था। ये वीडियो आपको विचलित कर सकता है। वीडियो में सभी शव रस्सी से लटके हुए नजर आ रहे हैं। वीडियो 1 मिनट 15 सेकंड्स का है।

[playlist type="video" ids="249797"]

घर से मिला था रजिस्टर

सूत्रों के अनुसार, जांच के दौरान घर से पुलिस को अलौकिक शक्तियां, मोक्ष के लिए मौत ही एक द्वार व आत्मा का अध्यात्म से रिश्ता जैसी अजीबो गरीब बातें लिखी हुईं एक रजिस्टर मिला।

यह भी पढ़ें: दिल्ली: एक ही घर में 11 लाशें मिलने से मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस

यही नहीं, जब जांच टीम ने इस रजिस्टर के बाकी पन्नों को पढ़ा तो पाया कि उसमें ‘मोक्ष प्राप्त करना है तो जीवन को त्यागना होगा। जीवन को त्यागने के लिए मौत को गले लगाना होगा। मौत को गले लगाने में कष्ट होगा। कष्ट से छुटकारा पाना है तो आंखें बंद करनी होंगी’ जैसी बातें लिखी हुई थीं।

जांच के दौरान ये बात भी सामने आई कि इस रजिस्टर में आखिरी बार 26 जून को लिखा गया था। इसमें ये लिखा था कि 30 जून को सभी परमात्मा से मिलेंगे। इसके लिए सभी हाथ पांव, मुंह पूरी तरह बांधेंगे ताकि किसी की सुन न सकें।

वहीं, एक चौंकाने वाली बात ये भी है कि घर के सभी सदस्यों के मोबाइल फोन टैब मंदिर के पास एक पॉलिथीन में साइलंट मोड में बंधे मिले। पुलिस को हाथ लगे रजिस्टर में और भी कई बातें लिखी हुई हैं।

11 पाइपों से जुड़ा है 11 मौतों का रहस्य!

जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि घर से कुल 11 पाइप बाहर निकले हुए हैं, जिसमें से 7 पाइपों के मुंह ऊपर की ओर हैं, जबकि 4 पाइपों के मुंह सीधे हैं। वहीं, घर में पाए गए कुल 11 शवों में से 7 महिलाएं और 4 पुरुष हैं। इस तरह से ये पता चलता है कि परिवार काफी अंधविश्वासी था।

ललित के वश में था परिवार

जानकारी के अनुसार, पूरा परिवार ललित के मुताबिक ही काम करता था क्योंकि ललित का कहना था कि उसके सपने में पिता आते हैं, जोकि मोक्ष हासिल करने के लिए कहते हैं। इसके अलावा जो रजिस्टर पुलिस के हाथों लगा था, उसकी हैंडराइटिंग ललित की है। मगर सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि परिवार मरना नहीं चाहता था क्योंकि रजिस्टर में ललित ने लिखा था कि पिता ने कहा है कि तुम लोग मरोगे नहीं, मैं बचा लूंगा।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story