शामली फायरिंग: केस, नोटिस-निष्कासन के बाद CM ने दिया 5 लाख का मुआवजा

Published by Newstrack Published: February 8, 2016 | 12:16 pm
Modified: August 10, 2016 | 4:03 am

जीत के जश्न में फायरिंग करते लोग।

मेरठ/मुजफ्फरनगर: शामली के कैराना में ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी नफीसा की जीत के बाद फायरिंग में मारे गए बच्चे के परिवार को सरकार ने पांच लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। सोमवार शाम सीएम अखिलेश यादव ने कैराना से नवनिर्वाचित ब्लॉक प्रमुख नफीसा को समाजवादी पार्टी से निष्कासित कर दिया था। साथ ही विधायक नाहिद हसन को पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार करने को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी कर स्थिति स्पष्ट करने को कहा है।

डिप्टी एसपी नपे, डीएम-एसपी बचे 
सीएम के आदेश पर मुख्य सचिव आलोक रंजन डिप्टी एसपी और एसडीएम को हटाने का निर्देश जारी किया। डिप्टी एसपी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई भी होगी। कैराना के एसएचओ बीपी सिंह को सस्पेंड कर दिया है। शामली के डीएम से कहा गया है कि इलाके के शस्त्र लाइसेंस निरस्त करें। लेकिन, एसपी और डीएम के खिलाफ अभी भी कोई एक्शन नहीं लिया गया है।

विधायक समेत दर्जनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज
फायरिंग में बच्चे की मौत के बाद पत्रकारों के साथ बदसलूकी करने के मामले में, कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन सहित 25 लोगों पर आईपीसी की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।


क्या हुआ शामली में?

-शामली के कैराना में ब्लॉक प्रमुख चुनाव में प्रत्याशी नफीसा की जीत की खुशी में समर्थकों ने जमकर फायरिंग की। इस दौरान वहां ऑटो रिक्शा में बैठकर मां के साथ जा रहे एक बच्चे की गोली लगने से मौत हो गई। अवैध हथियारों से सैकड़ों राउंड फायरिंग और भीड़ का तांडव पुलिस और पीएसी की मौजूदगी में होता रहा।
-जनपद शामली के कैराना ब्लॉक में प्रत्याशी नफीसा ने सर्वदलीय प्रत्याशी संजीदा को नजदीकी मुकाबले में हरा दिया।
-प्रत्याशी की जीत की सूचना मिलते ही उसके समर्थकां ने ब्लॉक कार्यालय के सामने ही फायरिंग शुरू कर दी।
-एक-दो नहीं बल्कि कई दर्जनभर हथियारों से फायरिंग की गई। यह सिलसिला करीब आधे घंटे तक चला।
-अवैध फायरिंग करते हुए समर्थकों को किसी भी अधिकारी ने रोकने की हिम्मत भी नहीं दिखाई।

परिजनों ने लगाया जाम
-छह बहनों के अकेल भाई 7 वर्षीय मासूम शमी के सीने में गोली लग गई। गंभीर हालत में उसे राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।
-मृतक के गुस्साए परिजनों ने शव लेकर कैराना के पानीपत-खटीम हाईवे पर जाम लगा दिया।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App