×

योगी ने बाढ़ पीड़ितों में बांटी राहत सामग्री, बोले- शाम तक होगी कार्रवाई

aman

amanBy aman

Published on 14 Aug 2017 8:40 AM GMT

योगी ने बाढ़ पीड़ितों में बांटी राहत सामग्री, बोले- शाम तक होगी कार्रवाई
X
UP: योगी ने बाढ़ पीड़ितों में बांटी राहत सामग्री, बोले- शाम तक होगी बड़ी कार्रवाई
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गोंडा/बहराइच: प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ बाढ़ की विभीषिका देखने के बाद बांध की मरम्मत में लापरवाही मामले में शाम तक सरकार बड़ी कार्रवाई करेगी। बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा, कि 'राहत और बचाव में किसी भी प्रकार की कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने ये भी कहा, कि सरकार की संवेदनशीलता पर सवाल उठाए जा रहे हैं, जबकि यह सरकार सबसे संवेदनशील है।'

बता दें, कि दो बार कार्यक्रम स्थगित होने के बाद सोमवार (14 अगस्त) को सीएम योगी आदित्यनाथ जिले के कर्नलगंज तहसील के बाढ़ राहत केन्द्र पाल्हापुर पहुंचे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की और राहत सामग्री का वितरण किया।

गोंडा के बाद सीएम योगी बहराइच पहुंचे। सीएम ने बाढ़ की विभीषिका का मुआयना किया। योगी सोमवार दोपहर हेलीकॉप्टर से यहां आए थे। उन्होंने बाढ़ की विभीषिका पर चिंता जताते हुए कहा, कि बाढ़ का स्थायी समाधान सिंचाई विभाग को निकालना होगा। बाढ़ व कटान पीड़ितों को राहत पहुंचाते हुए ठोस समाधान की तैयारी शुरू कर दें। बाढ़ राहत में हीलाहवाली बरतने वालों को कतई बख्शा नहीं जाएगा। अगर बाढ़ पीड़तों की शिकायत आई तो जिम्मेदार बख्शे नहीं जाएंगे। इस मौके पर उन्होंने राहत सहायता वितरण की शुरुआत करते हुए 12 महिला व पुरुषों को सहायता प्रदान की। प्रधानमंत्री आवास के चेक दिए। इसके बाद एक हजार चयनित लोगों को राहत वितरण किया गया।

ईमानदारी पूर्वक पहुंचाएं राहत

बहराइच में बाढ़ की विभीषिका पर चिंता जताते हुए सीएम ने अधिकारियों को ईमानदारी पूर्वक पीड़ितों को राहत पहुंचाने के निर्देश दिए। कहा कि बाढ़ हर साल आती है। लेकिन इसके ठोस उपाय अब तक नहीं किए गए। उन्होंने सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता को निर्देश दिया कि वर्तमान बाढ़ से निपटते हुए बाढ़ की समस्या आने वाले समय में उत्पन्न न हो, इसके लिए समुचित समाधान तैयार करें। जिससे लोगों को बेघर न होना पड़े।

शाम तक होगी कार्रवाई

अपने संबोधन में सीएम योगी ने कहा, कि 'लापरवाही मामले में दो-तीन अधिकारियों के नाम सामने आए हैं, उन पर शाम तक कार्रवाई होगी।' हालांकि, सीएम ने नामों का खुलासा नहीं किया।

मृतकों के परिजनों को दिया मुआवजा

सीएम योगी ने कहा, कि जिन बाढ़ पीड़ितों के कच्चे मकान हैं, सरकार उन्हें पक्के मकान देगी। उन्होंने भरोसा दिया कि जानवरों को चारे की समस्या नहीं होने दी जाएगी। सीएम ने प्रशासन को निर्देश दिया है कि राहत वितरण में कोई भेदभाव नहीं किया जाए। मुख्यमंत्री ने बाढ़ की वजह से हुई दो मौतों पर संज्ञान लेते हुए मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख मुआवजे का स्वीकृति पत्र दिया। इस दौरान सीएम योगी के साथ प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, सांसद बृजभूषण शरण सिंह, विधायक कुंवर अजय प्रताप सिंह और विधायक बावन सिंह आदि मौजूद थे।

सीएम का इंतजार करते रह गए कायमपुर के बाढ़ पीड़ित, देखने के लिए पेड़ पर चढ़े लोग

सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रोग्राम में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र कायमपुर का निरीक्षण करना निर्धारित था। लेकिन सीएम बहराइच के एरिया में अपना कार्यक्रम कर वापस चले गए। कायमपुर के ग्रामीण सीएम के आने का इंतजार करते रहे। जब उन्हे पता चला कि अब सीएम नही आएंगे तो चेहरे पर मायूसी छा गई।

कायमपुर, किसानगंज और पिपरी समेत दर्जन भर गांव के बाढ़ और कटान पीड़ित तटबंध पर मुख्यमंत्री के आगमन के इंतजार में थे। कायमपुर निवासी रघुवीर, जगन्नाथ और दुलारा ने बताया कि सोंचा था मुख्यमंत्री आएंगे तो अपनी समस्या कहकर मन को हल्का करेंगे। लेकिन पता चला उनका उड़नखटोला रामलीला मैदान से ही लौट गया।

पेड़ पर चढ़े लोग

एरिया में आएं सीएम को देखने के लिए भारी भीड़ एकत्रित हुई। सब लोग सीएम को देखने के लिए काफी बेताब दिखेे। जब मैदान भर गया तब लोग देखने के लिए पेड़ पर चढ़ गए।

भीड़ को संभालने में छूटे पसीने

ऐरिया के जिस रामलीला मैदान पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ। वहां पर वर्षा के चलते जलभराव और कीचड़ की स्थिति थी। ऐरिया के साथ आसपास गांवों के बाढ़ व कटान पीड़ित काफी संख्या में पहुंचे थे। जिसके चलते मौके पर मौजूद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को पसीने छूटते दिखे।

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story