Top

तेलंगाना : 'इज्जत' के नाम पर मारे गए दलित का अंतिम संस्कार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 Sep 2018 4:32 PM GMT

तेलंगाना : इज्जत के नाम पर मारे गए दलित का अंतिम संस्कार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हैदराबाद : तेलंगाना के मिरयालगुडा शहर में शुक्रवार को धारदार हथियार से काट दिए गए दलित युवक का रविवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। पुलिस ने इसे 'ऑनर किलिंग' का मामला बताया है। प्रणय कुमार नाम के इस युवक के अंतिम संस्कार में दलित संगठनों के सदस्यों के साथ बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। प्रणय के दूसरी जाति के ससुर पर उसकी वहशियाना तरीके से हत्या कराने का आरोप लगा है।

ये भी देखें : रेवाड़ी सामूहिक दुष्कर्म मामले का एक मुख्य आरोपी निशू गिरफ्तार

प्रणय की पत्नी अमरुता वार्षिणी, उसके माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य अंतिम संस्कार के समय मौजूद थे। नालगोंडा जिले के मिरियालगुडा में चर्च में विशेष प्रार्थना हुई।

प्रणय के भाई के यूक्रेन से आने के बाद शवयात्रा निकाली गई। प्रणय अपनी गर्भवती पत्नी की अस्पताल में जांच कराने के बाद लौट रहा था जब एक भाड़े के हत्यारे ने उसे काट डाला।

माता-पिता के कड़े विरोध के बावजूद अमरुता ने छह महीने पूर्व प्रणय से प्रेम विवाह किया था। हत्या से लोगों में गुस्से की लहर दौड़ गई। शनिवार को दलित संगठनों ने शहर को बंद करवाया।

ये भी देखें :शर्मनाक: तमंचे के बल पर किशोरी से युवक ने किया दुष्कर्म

तेलंगाना के आईटी मंत्री के.टी. रामाराव ने रविवार को प्रणय की हत्या की निंदा की। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि एक स्तब्ध करने वाला झटका लगा है। देख कर क्षोभ होता है कि जातिवाद कितना गहरे हमारे समाज में धंसा हुआ है। उन्होंने कहा कि दोषी बख्शे नहीं जाएंगे।

पुलिस ने अमरुता के पिता मारुति राव, उसके भाई श्रवण कुमार और तीन अन्य को गिरफ्तार किया है। हत्या करने वाले की तलाश की जा रही है।

आरोप है कि मारुति राव ने भाड़े के हत्यारे को हत्या के लिए दस लाख रुपये दिए। कहा जा रहा है कि उसने पुलिस से कहा है कि उसके लिए उसकी बेटी से कीमती उसकी 'इज्जत' है।

अमरुता ने अपने पिता को शैतान बताया और कहा कि वह कभी लौट कर उसके पास नहीं जाएगी और प्रणय के माता-पिता के साथ रहेगी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story