×

बदकिस्मती बुंदेलखंड की: पानी की एक बूंद नहीं, सियासत की आ गई बाढ़

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 5 May 2016 1:22 PM GMT

बदकिस्मती बुंदेलखंड की: पानी की एक बूंद नहीं, सियासत की आ गई बाढ़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

sudhir Sudhir Jha

झांसी: बुंदेलखंड में रेल से पानी देने को लेकर बुधवार से केंद्र और राज्य के बीच जमकर सियासत हो रही है। सीएम अखिलेश यादव, जल मंत्री शिवपाल यादव, मुख्य सचिव आलोक रंजन से लेकर बीजेपी नेता तक इतना पानी-पानी कर चुके हैं, जितना सिर्फ कहीं बाढ़ आने पर कहा-सुना जाता हो। लेकिन यहां बिन पानी सियासत का सैलाब आ गया है।

केंद्र ने बुंदेलखंड के लिए 10 वैगन वाली वॉटर ट्रेन भेजी। वैगन में झांके बिना यह हल्ला कर दिया गया कि पांच लाख लीटर पानी आ गया है। राज्य सरकार ने इसे केंद्र का बड़ा दांव मानकर यह ऐलान कर दिया कि हमें यह पानी चाहिए नहीं। मुख्य सचिव आलोक रंजन के बाद मंत्री शिवपाल यादव ने बयान दे डाला। सीएम ऑफिस से भी ट्वीट पर ट्वीट शुरू हो गया।

बायनबाजी के बाद सीएम को याद आया कि पानी की पुष्टि कर ली जाए। उन्होंने झांसी के डीएम को आदेश दिया कि मौके पर जाकर देखें। झांसी के डीएम अजय शुक्ला ने वैगन खाली होने की पुष्टि की। हालांकि, newztrack.com ने पहले ही बता दिया था कि सभी वैगन खाली हैं। यहां सफाई के लिए आए हैं।

देखिए सियासत का सिलसिला...

UPCM @yadavakhilesh requests GOI for 10,000 road tankers to distribute water in Bundelkhand from available water resources around the region

Newstrack

Newstrack

Next Story