Top

जेवर में हत्या और सामूहिक दुष्कर्म मामले में 4 पड़ोसी गिरफ्तार, फोरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लव कुमार ने कहा, "महिला के बयान पर जिन चार लोगों की गिरफ्तारी की गई है, हम उनसे पूछताछ कर रहे हैं। हम व्यक्तिगत दुश्मनी के पहलू से भी मामले की जांच कर रहे हैं, क्योंकि परिवार के सदस्यों ने बयान बदल दिया है। पहली नजर में मामला लूट का प्रतीत होता है।

zafar

zafarBy zafar

Published on 26 May 2017 11:52 PM GMT

जेवर में हत्या और सामूहिक दुष्कर्म मामले में 4 पड़ोसी गिरफ्तार, फोरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: उत्तर प्रदेश के जेवर में एक व्यक्ति की हत्या और उसी परिवार की चार महिलाओं के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में शुक्रवार को पीड़ित परिवार के चार पड़ोसियों को गिरफ्तार कर लिया गया। एसटीएफ के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, "यमुना एक्सप्रेसवे पर जेवर से दो किलोमीटर दूर गुरुवार को एक कबाड़ कारोबारी की हत्या कर दी गई और उसकी मां, पत्नी, बहन और बहू के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने इस सिलसिले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।"

यह भी पढ़ें...जेवर गैंगरेप-हत्या कांड में नया मोड़, CMO ने कहा- प्राइमरी रिपोर्ट में नहीं हुई रेप की पुष्टि

चार गिरफ्तार

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान हाजी, मुन्ना व वहीम के रूप में हुई है। चौथे शख्स की पहचान अभी नहीं हो पाई है। गिरफ्तार आरोपी कथित तौर पर पीड़ितों के पड़ोसी हैं। एसटीएफ अधिकारी उनसे पूछताछ कर रहे हैं। उन्होंने कहा, "यह गिरफ्तारी पीड़ित महिलाओं द्वारा दिए गए बयान के आधार पर की गई है। पीड़ित महिलाओं की चिकित्सा जांच कराई गई है।"

गौतम बुद्ध नगर ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लव कुमार ने कहा, "महिला के बयान पर जिन चार लोगों की गिरफ्तारी की गई है, हम उनसे पूछताछ कर रहे हैं। हम व्यक्तिगत दुश्मनी के पहलू से भी मामले की जांच कर रहे हैं, क्योंकि परिवार के सदस्यों ने बयान बदल दिया है। पहली नजर में मामला लूट का प्रतीत होता है।"

यह भी पढ़ें...मथुरा कांड: पुलिस ने 2. 9 लाख की नगदी समेत 40 लाख के जेवर बरामद कर परिजनों को सौंपे

कुमार ने कहा, "पीड़ितों का बयान आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 164 के तहत शनिवार को दंडाधिकारी के समक्ष दर्ज किया जाएगा। हमने संदिग्धों के स्केज बनाने के लिए विशेषज्ञों के एक दल को बुलाया है।" वहीं, जिला स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि प्रथम दृष्टया लगता है कि उनके साथ यौन उत्पीड़न नहीं हुआ है, हालांकि वे फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी अनुराग भार्गव ने कहा, "जिन महिलाओं ने सामूहिक दुष्कर्म का दावा किया था, उनकी सरकारी दिशा-निर्देशों के मुताबिक चिकित्सा जांच कर ली गई है।"

यह भी पढ़ें...आगरा: कार में महिला से सामूहिक दुष्कर्म, पूर्व प्रधान समेत 3 पर आरोप

बलात्कार और हत्या

उल्लेखनीय है कि बुधवार की रात 1.30 बजे के आसपास यहां से कोई 60 किलोमीटर दूर जेवर-बुलंदशहर राजमार्ग पर इस घटना को उस समय अंजाम दिया गया, जब ग्रेटर नोएडा निवासी परिवार के आठ सदस्य एक बीमार रिश्तेदार को देखने बुलंदशहर की ओर जा रहे थे। पीड़ितों के मुताबिक, हथियारों से लैस छह लोगों ने सबोटा गांव के निकट टायर पर गोली चलाकर ईको वैन को रोक दिया और बंदूक के दम पर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

पुलिस ने बताया कि कबाड़ कारोबारी शकील कुरैशी (40) ने जब इसका विरोध किया, तो उन्होंने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी और 47,000 रुपये समेत मोबाइल फोन व कीमती समान लूट लिए।

--आईएएनएस

zafar

zafar

Next Story