G-20 समिट में बदले-बदले दिखे भारत-चीन के सुर, जिनपिंग ने की भारत की सराहना

Published by aman Published: July 7, 2017 | 7:27 pm
Modified: July 7, 2017 | 7:28 pm

हैम्बर्ग: सिक्किम सीमा पर तनाव के बीच भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी ने जी- 20 शिखर सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की। जी- 20 सम्मेलन जर्मनी के हैम्बर्ग में चल रहा है। इस दौरान दोनों नेताओं ने एक-दूसरे से हाथ मिलाया।

पीएम मोदी ने कहा, कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग के चेयरमैनशिप के अंतर्गत ‘ब्रिक्स’ (BRICS) ने सकारात्मक गति पकड़ी है। उन्हें ब्रिक्स के आगामी सम्मेलन के लिए मेरी शुभकामनाएं।’ इसके साथ ही पीएम मोदी ने ने चीन के साथ सभी तरह के सहयोग का वादा किया। बता दें, कि अगला ब्रिक्स सम्मेलन इसी साल सितंबर में चीन के फुजियान राज्य में होने जा रहा है।

ब्रिक्स देशों की बैठक में जीएसटी की चर्चा
ब्रिक्स देशों के नेताओं की अनौपचारिक बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने चीन सहित ब्रिक्स के सभी देशों के साथ सहयोग का वादा किया। इस मौके पर पीएम ने कहा, कि ‘भारत दिनोंदिन आत्मनिर्भर होता जा रहा है।’ ब्रिक्स देशों की बैठक में पीएम ने जीएसटी की चर्चा की और कहा, कि ‘जीएसटी भारत का अब तक का सबसे बड़ा कर सुधार है।’

जिनपिंग ने की भारत की सराहना
इसी बैठक में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत की भी सराहना की। शी जिनपिंग ने ब्रिक्स देशों की अनौपचारिक बैठक में कहा, कि ‘भारत ने आतंकवाद के खिलाफ जंग में कड़े कदम उठाए हैं। उन्होंने भारत के नेतृत्व में ब्रिक्स देशों के प्रगति की भी तारीफ की। शी जिनपिंग ने कहा, कि भारत के नेतृत्व में ब्रिक्स ने रफ़्तार पकड़ी है।’