हिंदू-मुस्लिम ने की शादी, दंगे के डर से नहीं दे रहे मैरिज सर्टिफिकेट

Published by Newstrack Published: April 22, 2016 | 7:44 pm
Modified: August 10, 2016 | 3:59 am

नोएडा : यूपी के दादरी टाउन में रहने वाले एक हिंदू-मुस्लिम कपल की शादी का रजिस्ट्रेशन नहीं किया जा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि शादी का रजिस्ट्रेशन करने से साम्प्रादायिक दंगे भड़क सकते हैं।

क्या है मामला ?
-19 अक्टूबर 2015 को मंजीत भाटी(24) और सलमा(20) गौतमबुद्ध नगर जिले के दादरी से बाइक पर भाग कर इलाहाबाद चले गए थे।
-इसके बाद सलमा ने हिंदू धर्म अपनाया और अपना नाम बदल कर सपना आर्या कर लिया।
-दोनों ने एक-दूसरे से आर्य समाज मंदिर में 22 अक्टूबर 2015 को शादी कर ली थी।
-शादी के बाद दोनों ने कई बार सरकारी ऑफिसों के चक्कर काटे और जिले के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात भी की, लेकिन कोई मदद नहीं मिली।
-दोनों के मुताबिक अफसरों ने उनकी शादी का रजिस्ट्रेशन करने से इसलिए मना कर दिया क्योंकि इससे दंगे भड़क सकते हैं।

सीएम अखिलेश को लिखी चिट्ठी
-मंजीत भाटी ने कहा कि उन्होंने अब तक डीएम,एडीएम,एसडीएम और अन्य मजिस्ट्रेटों से मुलाकात की है,लेकिन किसी तरह की मदद नहीं मिल सकी है।
-इसके बाद उन्होंने सीएम अखिलेश यादव को चिट्ठी लिखकर मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है।

अधिकारियों ने की घूस की मांग
-मंजीत ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों ने उनसे शादी का रजिस्ट्रेशन करने के लिए 20 हजार रुपए घूस भी मांगी है।
-हालांकि गौतम बुद्ध नगर के डीएम एनपी सिंह ने वादा किया है कि शादी का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।
-डीएम ने वरिष्ठ अधिकारियों से इस मामले को देखने के लिए कहा है।