अच्युतानंद नहीं, वाम नेता पी विजयन होंगे केरल के अगले मुख्यमंत्री

Published by Published: May 20, 2016 | 4:50 pm
Modified: August 10, 2016 | 4:00 am

नई दिल्ली: केरल के नए सीएम की औपचारिक घोषणा अभी नहीं हुई है। लेकिन वामपंथ के दिग्गज नेता वीएस अच्युतानंद का तिरुवनंतपुरम की सीपीएम ऑफिस से बाहर निकलना काफी कुछ कह देता है। केरल की एलडीए सरकार ने तय किया है कि पिनारयी विजयन अब राज्य के नए मुख्यमंत्री होंगे।

शुक्रवार की सुबह सीपीएम के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी और प्रकाश करात ने पार्टी के हेडक्वॉर्टर में हुई बैठक में हिस्सा लिया। यहां विजयन के नाम पर मुहर लगाई गई।

अच्युतानंद की उम्र आई आड़े
कहा जा रहा है कि इस विधानसभा चुनाव में विजयन ने पूर्व सीएम और स्टार प्रचारक अच्युतानंद से सिर्फ इसलिए बाजी मारी। क्योंकि वह अच्युतानंद से उम्र में 20 साल छोटे हैं। 72 साल के विजयन का पार्टी की राज्य समिति में बहुमत भी था।

जमीन से जुड़े नेता हैं विजयन
विजयन को जमीन से जुड़ा नेता के तौर पर देखा जाता है। पार्टी की कार्यशैली के साथ उनका सामंजस्य भी स्थापित है। वहीं जनता के नेता कहे जाने वाले अच्युतानंद को केरल में ब्रांड तो समझा जाता है लेकिन उन पर कई बार पार्टी के अनुशासन और नियमों को तोड़ने का आरोप भी लगता रहा है। बतौर मुख्यमंत्री अच्युतानंद के पहले कार्यकाल (2006-11) के दौरान विजयन के साथ अक्सर उनका मतभेद हो जाता था जिससे पार्टी को अक्सर शर्मंदिगी का सामना करना पड़ता था।

एक बार तो ऐसा भी हुआ कि पार्टी ने दोनों नेताओं का नाम पोलित ब्यूरो से हटा दिया। हालांकि विजयन को बहाल कर दिया गया था लेकिन अच्युतानंद केंद्रीय समिति के अतिथि की बनकर रह गए।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App