नीतीश की सभा के लिए बिहार से आए JDU नेता, काशी में खूब गटकी शराब

Published by Newstrack Published: May 12, 2016 | 5:32 pm
Modified: August 10, 2016 | 3:59 am

सभा में मौजूद जेडीयू नेता-कार्यकर्ता

वाराणसी: पिंडरा में नीतीश कुमार ने गुरुवार को सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी को देशभर में शराबबंदी की चुनौती दी। लेकिन उनके ही कार्यकर्ता शराबबंदी बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं। यह बात इलाके में मौजूद शराब के ठेकों के आंकड़े बता रहे हैं।

यह भी पढ़ें… मोदी के गढ़ में बोले नीतीश- BJP वालों ने थामा तिरंगा यही हमारी जीत

पिंडरा इलाके में कुल तीन दुकाने है जिनमें एक अंग्रेजी, एक देशी और एक बीयर की दुकान है। पिछले दो दिनों में यहां शराब की खूब बिक्री हुई। बिहार से आकर जेडीयू के नेता और कार्यकर्ता दो दिनों से यहां डेरा डाले हुए थे। इलाके में मौजूद शराब के ठेकों और दुकानों पर अचानक भीड़ बढ़ गई। कई ठेकों पर तो सेल दोगुनी से अधिक हुई।

शराबबंदी पर क्या बोले नीतीश कुमार  
-सभा में नीतीश कुमार ने कहा-बिहार में महिलाओं की मांग पर हमने शराबबंदी कर दी। महिलाएं ही नहीं शराब पीने वाले लोग भी अब खुश हैं।
-अब यूपी और झारखंड में भी शराब पर रोक की मांग बढ़ रही है।
-प्रधानमंत्री जब गुजरात के सीएम थे तो वहां शराबबंदी को जारी रखा।
-अब पीएम हैं तो पूरे देश में शराब बंदी क्यों नहीं लागू करते हैं।
-हमें देश को संघमुक्त और समाज को शराबमुक्त बनाना है।

यह भी पढ़ें… प्रेसिडेंट के आने से पहले BHU में चले चाकू, स्टूडेंट को लगे 56 टांके

-बिहार में लागू है शराबबंदी
-बतादें, बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव के दौरान यह वादा किया था कि सत्ता वापसी होने पर वह राज्य में शराब बिक्री पर रोक लगा देंगे। पहले देशी और फिर विदेशी शराब पर भी वह रोक लगा चुके हैं।

यूपी आकर पी रहे शराब
-बिहार में शराबबंदी के बाद राज्य से सटे यूपी के इलाकों में शराब की बिक्री बढ़ गई है। बिहार से लोग यहां आकर शराब पी रहे हैं। नीतीश कुमार यूपी सरकार से सहयोग की मांग कर चुके हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App