×

मायावती ने एनकाउंटर पर पूछा- क्या वर्ग विशेष के लोग ही हैं हिस्ट्रीशीटर?

aman

amanBy aman

Published on 20 Sep 2017 6:38 AM GMT

मायावती ने एनकाउंटर पर पूछा- क्या वर्ग विशेष के लोग ही हैं हिस्ट्रीशीटर?
X
लोस-विस चुनाव अकेले दम पर लड़ेगी बसपा, कहा- गठबंधन का तजुर्बा अच्छा नहीं
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश में लगातार हो रहे एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए कहा है, कि 'क्राइम कंट्रोल के नाम पर पिछले छः महीनों में जिन लोगों के मारे जाने का पुलिस डंका पीट रही है, उससे यह प्रश्न भी उठने लगा है कि क्या वर्ग व सम्प्रदाय विशेष के ही लोग अपराध करते हैं व हिस्ट्रीशीटर हैं?'

मायावती ने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा, कि 'सरकार श्वेत पत्र जारी कर पिछली सरकारों को घेरने की आड़ में अपनी कमियों को छिपा रही है। ऐसा करना वास्तव में इनकी छोटी सोच व सस्ती लोकप्रियता प्राप्त करने को ही दिखाता है। अपनी सरकार की कमियों पर पर्दा डालने का ही एक घिनौना प्रयास है, जिसे जनता कतई पसंद नहीं करती है।'

ये भी पढ़ें ...सहारनपुर कांड की आड़ में भाजपा मेरी हत्या करना चाहती थी-मायावती

अपनी सरकार की कमियों पर लाते 'श्वेत पत्र', तो...

मायावती ने बुधवार (20 सितंबर) को जारी बयान में कहा, कि 'पूर्ववर्ती सरकारों की कमियां गिनाने के बजाय सीएम योगी अपने सरकार की कमियों को लेकर ’श्वेत पत्र’ जारी करते तो ज्यादा बेहतर होता। उन्होंने उल्टी गंगा बहाने का प्रयास किया है।' उन्होंने आगे कहा है, कि अपनी सरकार के कारनामों को उपलब्धि बताना और कुछ नहीं बल्कि उनकी मजबूरी थी, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार की भी यही गलत कार्यशैली देश की जनता को देखने के लिए मिल रही है।'

ये भी पढ़ें ...मायावती सरकार के समय हुई 21 चीनी मिलों की खरीद बिक्री पर SC की रोक

आगे की स्लाइड में पढ़ें और क्या कहा मायावती ने ...

विकास तो छलने का एक बहाना है

माया बोलीं,'विकास तो गरीबों, बेरोजगारों, युवाओं व मेहनतकश जनता को छलने का एक बहाना है। अगर सरकार की नीयत सही होती तो प्रदेश की सड़कें गड्डा-मुक्त हो गई होतीं, बिजली का बुरा हाल नहीं होता, अस्पतालों में बड़ी संख्या में गरीबों के मासूम बच्चे दम नहीं तोड़ते और ना ही किसानों को बुरी तरीके से छला जा रहा होता।'

ये भी पढ़ें ...रोहिंग्या मुसलमानों से मायावती की हमदर्दी, कहा- सख्त रवैया ना अपनाए केंद्र

दूसरों की उपलब्धियों की पगड़ी बांध रहे

मायावती ने कहा, कि 'योगी अपनी सरकार की कमियों पर पर्दा डालने के लिए पूर्ववर्ती सरकारों पर दोषारोपण करते रहेंगे। वास्तव में वह चुनाव का समय होता है जब सत्ताधारी पार्टी व सरकार की कमियों और असफलताओं आदि के संबंध में चर्चा व आलोचना की जाती है। पर, नई सरकार बनने के बाद भी अपनी कमियों को छिपाने के लिए पूर्ववर्ती सरकारों को ही केवल कोसते रहना कितना गलत है, यह जनता बखूबी जानती है। केवल दूसरों को बुरा बताकर ही नहीं बल्कि दूसरों की उपलब्धियों की पगड़ी को भी अपने सर पर जबर्दस्ती बांध लेना बीजेपी सरकारों की खास विशेषता देशभर को देखने को मिल रही है।'

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story