नवाज ने UN में आतंकी बुरहान को बताया नेता, भारत ने कहा- आतंक रोको तब बातचीत

Published by Published: September 21, 2016 | 11:34 pm
Modified: September 21, 2016 | 11:57 pm
नवाज शरीफ

न्यूयॉर्कः पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र (यूएन) जनरल असेंबली में फिर कश्मीर का मुद्दा उठाया। नवाज ने कहा कि कश्मीर मुद्दे का हल निकाले बगैर भारत और पाकिस्तान के बीच शांति नहीं हो सकती। उन्होंने आतंकी बुरहान वानी को भी कश्मीर का नेता बता दिया। अपने भाषण के दौरान नवाज ने परमाणु ताकत का जिक्र करते हुए भारत को गीदड़ भभकी भी दी। साथ ही ये झूठा दावा भी किया कि पाकिस्तान विदेश से फैलाए जा रहे आतंकवाद से पीड़ित है।

नवाज के इस झूठ से भरे भाषण पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। विदेश मंत्रालय ने बुरहान वानी को कश्मीरी नेता बताए जाने पर नवाज शरीफ की निंदा की। साथ ही ये भी साफ कर दिया कि पाकिस्तान से बातचीत तभी संभव है, जब वह आतंकवाद रोके।

नवाज ने बोला झूठ पर झूठ
नवाज शरीफ ने कश्मीर को दोनों देशों के बीच सबसे अहम मुद्दा बताया। उन्होंने आतंकी बुरहान वानी को कश्मीरी नेता बताया। पाक पीएम ने आरोप लगाया कि भारत ने बुरहान की हत्या की है। नवाज ने कश्मीर में बीते दिनों हुई हिंसा की वजह भारत के अवैध कब्जे के खिलाफ स्थानीय लोगों का आंदोलन करार दिया। उन्होंने ये ऐलान भी किया कि पाकिस्तान हमेशा कश्मीरियों को नैतिक और कूटनीतिक समर्थन देता रहेगा।

उरी हमले पर शातिराना चुप्पी
पाकिस्तानी पीएम ने पुराना राग अलापते हुए कहा कि कश्मीर में हो रही हत्याओं और कर्फ्यू की स्वतंत्र जांच होनी चाहिए। नवाज ने इस दौरान उरी में सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले पर एक बार भी दुख नहीं जताया। उल्टे गीदड़ भभकी देते हुए याद दिलाया कि पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार हैं। उन्होंने ये भी दावा किया कि पाकिस्तान जिम्मेदार परमाणु शस्त्र संपन्न देश है।

तनाव में लग रहे थे शरीफ
बता दें कि अपने करीब आधे घंटे के भाषण के दौरान पाकिस्तानी पीएम तनाव में दिख रहे थे। उनके चेहरे का भाव बता रहा था कि उरी हमले के बाद भारत ने जिस तरीके से पाकिस्तान के पेच कसे हैं, उससे पाकिस्तानी पीएम घबराए हुए हैं। नवाज को इससे पहले ओबामा, ब्रिटिश पीएम थेरिसा मेयर समेत दुनियाभर के नेताओं ने आतंकवाद खत्म करने को कहा था। इसका भी असर नवाज के चेहरे पर दिख रहा था।