UP बोर्ड में कमाल के टीपू, कोई सामने रखता है पर्चा-किसी ने खोली किताब

Published by Admin Published: February 19, 2016 | 9:11 pm
Modified: August 10, 2016 | 4:03 am

इलाहाबादः यूपी गर्वमेंट की नकल विहीन बोर्ड परीक्षा कराने के दावों की पोल खुल गई है। इलाहाबाद में परीक्षा केंद्रों पर स्‍टूडेंट्स खुलेआम नकल कर रहे हैं। वहीं यूपी बोर्ड सचिव का दावा है कि प्रदेश में कहीं भी नकल नहीं हो रही है।

स्‍कूल ही करा रहे नकल
-यूपी बोर्ड की हाईस्कूल की परीक्षा में पहले दिन हिंदी का पेपर था, जिसे स्‍टूडेंट साॅल्व नहीं कर पाए।
-स्‍टूडेंट हिंदी के पेपर में भी पर्ची, गाइड और किताबें लेकर पहुंचे।
-इन्‍हें राेकने की बजाय स्‍कूल प्रशासन इनकी मदद में जुटा रहा।

एक जैसी कॉपी लिख्‍ा रहे हैं स्‍टूडेंट
-सब कुछ खुली आंखों से दिखाई देने के बाद भी  यहां नकल के ठेकेदारों को किसी का डर नहीं है।
-सभी स्‍टूडेंट एक ही तरह से अपनी कॉपी लिख रहे हैं।

एशिया का सबसे बड़ा बोर्ड
-इस बार कुल 67,93,034 परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे हैं इसमें हाईस्कूल में 37,49,977 और इंटर में 30,43,057 परीक्षार्थी  शामिल हैं।
-पिछले साल की अपेक्षा इस साल 3,69,836 परीक्षार्थियों की बढ़ोत्तरी हुई है।

डीएम ने दिए कार्यवाही के आदेश
-यूपी बोर्ड में खुलेआम हो रही नकल के खुलासे के बाद डीएम संजय कुमार ने सख्त कार्यवाही के आदेश दिए।
-डीआइओएस को तलब कर स्कूलों की जांच के आदेश दे दिए है।
-नकल कराने वाले स्‍कूलों पर एफआईआर दर्ज करके कड़ी कार्यवाही की जाएगी। इन स्कूलों की मान्यता रद्द की जाएगी ।