PM उज्ज्वला योजना की बलिया से होगी शुरुआत, मोदी करंगे UP चुनाव का आगाज

लखनऊ / बलिया : यूपी के बलिया में 1 मई को पीएम नरेंद्र मोदी गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों के लिए घरेलू गैस कनेक्शन देने की शुरुआत के साथ-साथ अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी के लिए नए दरवाजे भी खोलेंगे।

बीपीएल कार्डधारकों के लिए ये योजना देश के किसी भी  राज्य से शुरू की जा सकती है लेकिन इसे यूपी के सबसे गरीब जिलों में से एक बलिया को ही चुना गया है। राजनीति की हर रग से वाकिफ पीएम नरेंद्र मोदी ने गरीबों को एलपीजी कनेक्शन देने की दुनिया की सबसे बड़ी योजना को देश के सबसे बडे राज्य यूपी को ही चुना। 3 साल में देश के 5 करोड़ बीपीएल कार्ड धारकों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन दिया जाएगा।

बता दें, कि 8 हजार करोड़ रुपए की पीएम उज्ज्वला योजना का एलान पिछले महीने ही किया गया था।

यूपी में बांटे जाएंगे डेढ़ करोड़
-पीएम 1 मई को बलिया आने पर 35 हजार गृहणियों को एलपीजी कनेक्शन देकर उन्हें  लकड़ी, कंडे और जंगल से ईंधन खोज से निजात दिलाएंगे।
-इस योजना के तहत सिर्फ यूपी में डेढ़ करोड़ कनेक्शन बांटे जाएंगे।

यह भी पढ़ें … PM बलिया से करेंगे UP चुनाव की शुरुआत, देंगे सस्ते दर पर गैस कनेक्शन

नजर दलितों और अति पिछडों के वोट पर भी
-यूपी विधानसभा चुनाव में दलित और अति पिछड़े निर्णायक भूमिका अदा करते हैं।
-पीएम दलितों को लुभाने के लिए अंबेडकर की तुलना अश्वेत नेता नेल्सन से पहले ही कर चुके हैं।
-गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों में 95 फिसदी से ज्यादा लोग दलित और अति पिछडे ही हैं।

-बीजेपी नेता मानते हैं कि इस योजना का लाभ आगामी चुनाव में जरूर होगा क्योंकि इससे इस राज्य में डेढ़ करोड़ परिवार लाभान्वित होंगें।
-बीजेपी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक कहते हैं कि केंद्र  सरकार की योजना दलितों और पिछड़ों को समर्थ बनाने की है।
-जिसका पीएम ने पिछले लोकसभा चुनाव में वायदा किया था।

एक करोड़ 13 लाख लोगों ने छोड़ दी है सब्सिडी
-पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक़ स्वैच्छिक तरीके से अभी तक देश के 1 करोड़ 13 लाख लोगों ने घरेलू गैस पर मिलने वाली सब्सिडी छोड़ दी है।
-सबसे ज्यादा 16.44 लाख लोगों ने महाराष्ट्र में और  उसके बाद 13 लाख लोगों ने यूपी में सब्सिडी वाली एलपीजी सरकार को लौटाई है।
-दिल्ली का स्थान तीसरा है  यहां 7.26 लाख लोगों ने सब्सिडी लौटाई है
-अपेक्षाकृत धनी व राष्ट्रीय आय में काफी ऊपर स्थान रखने वाले पीएम के स्टेट  गुजरात में सिर्फ 4.2 लाख लोगों ने सब्सिडी वाली एलपीजी लौटाई है।

पीएम के कार्यक्रम का जायजा लेने आए धर्मेंद्र प्रधान
-पीएम के कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने शनिवार को बलिया आए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि इस वित्तीय साल में 10  हजार नए गैस वितरक बनेंगे।
-उन्होंनें कहा कि  देश में 61 फीसदी घरो  में एलपीजी कनेक्शन हैं, लेकिन यूपी में ये आंकड़ा केवल 53 फीसदी है।
-देश  में अभी तीनो गैस कंपनियो के 18 हजार वितरक है । अगले 3 माह में 2 हजार व इस  वित्तीय वर्ष के अंत तक 8 हजार नए वितरक बन जाएंगे।
-उन्होंने एक सवाल के जबाब में जानकारी दी कि देश में एलपीजी की उपलब्धता बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार रिफाइनरी में उत्पादन बढ़ाने के साथ ही कई अन्य क्षेत्र में कार्य कर रही है।

जगदीशपुर हल्दिया पाइप लाइन होगी मददगार

-इसके तहत आधारभूत ढांचे का विस्तार किया जा रहा है।
-इराक,सऊदी अरब और यूएई से गैस सप्लाई बढ़ाने को लेकर बातचीत हुई है।
-उन्होंने स्वीकार किया कि पूर्वी यूपी की गैस कंपनियो ने अनदेखी की है।
-जगदीशपुर हल्दिया पाइप लाइन यूपी और बिहार सरीखे राज्यो के विकास में काफी मददगार साबित होगा।

 केंद्र सरकार घटे मूल्य का 50 फीसदी ग्राहकों को दे रही
-अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम गिरने के सापेक्ष केंद्र सरकार ने पेट्रोलियम पदार्थो के दाम नही घटाए के जवाब में उन्होंनें कहा कि केंद्र सरकार घटे मूल्य का 50 फीसदी ग्राहकों को दे रही है।
-इसके साथ ही 50 फीसदी धनराशि संचय की जा रही है।
-इस संचित 50 फीसदी में से 42 फीसदी धनराशि 14 वें वित्त आयोग की अनुशंसा पर राज्यो को विकास के लिए दी जाएगी।
-शेष बची धनराशि देश के विकास पर केंद्र सरकार खर्च कर रही है।
dharmendra-pradhan
-योजना के तहत 3 साल में गरीब महिलाओं के नाम 5  करोड़ नए कनेक्शन लगाये जाएंगे।
-इस साल के बजट में इसके लिए 2 हजार करोड़ का प्रबन्ध किया गया है।
-इस साल  डेढ़ करोड़ लोगों को मुफ़्त एलपीजी कनेक्शन दिया जायेगा।
-इसके लिए गरीब महिलाओं को  केवल गुणात्मक चूल्हा के लिए 1 हजार रुपए और गैस के पहले रिफिल का खर्च वहन करना पड़ेगा ।