बैठक से पहले PM मोदी पहुंचे हाईकोर्ट, जजों के साथ हुई चाय पर चर्चा

हाई कोर्ट के जजों के साथ पीएम मोदी

इलाहाबाद: पीएम बनने के बाद पहली बार प्रयाग आए पीएम नरेंद्र मोदी होटल कान्हा श्याम में कुछ देर ठहरने के बाद हाईकोर्ट पहुंचे। हाई कोर्ट पहुंचे पीएम मोदी ने उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस वीके शुक्ला के साथ ही सभी जजों और हाई कोर्ट बार के अध्यक्ष, महासचिव समेत प्रमुख अधिवक्ता संगठनों और केन्द्र तथा राज्य के सरकारी वकीलों से मुलाकात की।

पीएम को स्वागत कार्यवाहक चीफ जस्टिस वीके शुक्ला ने किया। पीएम नरेंद्र मोदी ने हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस वीके शुक्ला, जस्टिस तरुण अग्रवाल समेत तमाम जजों के साथ बैठक कर कई महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की।

जजों से मिलने के बाद पीएम मोदी ने हाई कोर्ट बार के अध्यक्ष राधाकांत ओझा, महासचिव अशोक सिंह, शासकीय अधिवक्ता अखिलेश सिंह, मुख्य स्थाई अधिवक्ता रमेश उपाध्याय, केन्द्र सरकार के एडिशनल साॅलीसीटी जनरल आॅफ इंडिया अशोक मेहता एवं एडवोकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों से भी मुलाकात की।

modi-with-justice--3
पीएम ने वकीलों को दिया आश्वासन

पांच मिनट की वार्ता में अधिवक्ताओं ने कई मांगें पीएम के सामने रखीं, जिसमें सबसे प्रमुख मांग जजों की नियुक्ति थी। इसके बाद अधिवक्ताओं ने पीएम नरेन्द्र मोदी से लीज पर भूमि मुहैया कराकर अधिवक्ताओं के लिए चैम्बर की व्यवस्था किए जाने एवं वकीलों के लिए अस्पताल की व्यवस्था कराए जाने की मांग की। जिस पर पीएम ने अधिवक्ताओं को आश्वासन देते हुए कहा, ‘आपकी सभी समस्याओंका निराकरण होगा।’ अधिवक्ताओं से पीएम मोदी ने वायदा किया कि जो भी मांगें हैं, उन्हें पूरा किया जाएगा।

इससे पूर्व पीएम हाई कोर्ट की 150 वीं वर्षगांठ को लेकर म्यूजियम देखा।

modi-with-justice--4
केशव मौर्या ने शाह के बयान का खंडन किया

वहीं इससे पूर्व पष्चिमी यूपी में बेंच बनाये जाने के मुद्दे को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिए गए बयान का खंडन करने के लिए उनके दूत के रूप में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या हाई कोर्ट पहुंचे। उन्होंने हाईकोर्ट बार के पदाधिकारियों के बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की ओर से बेंच के मुद्दे पर दिए गए बयान का खंडन किया। उन्होंने वकीलों को संबोधित करते हुए कहा कि बेंच बनाए जाने का कोई भी प्रस्ताव केन्द्र के पास नहीं है।