कानपुर में कोविंद बोले- इसी मिट्टी में सब सीखा, कुछ ज्यादा लगाव तो होगा ही

कानपुर में राष्ट्रपति बोले- इसी मिट्टी में सब कुछ सीखा, कुछ ज्यादा लगाव तो रहेगा ही

कानपुर: राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद शुक्रवार को अपने गृह जिले कानपुर आए। सम्मान में आयोजित कार्यक्रम ने राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ‘आज मैं अपने घर आया हूं। कुछ परंपराएं रही हैं कि जब घर का व्यक्ति आता है तो घर वाले स्वागत करते हैं। लेकिन मेरा यह मानना है कि आज आप मेरा स्वागत रामनाथ कोविंद के नाते नहीं, बल्कि इस देश के राष्ट्रपति के नाते कर रहे हैं।’

कोविंद ने कहा, ‘वैसे तो मैं पूरे देश का राष्ट्रपति हूं, लेकिन जहां की मिट्टी में पला-बढ़ा हूं, सब कुछ सीखते-सीखते यहां तक तक पहुंचा हूं, उससे कुछ न कुछ लगाव ज्यादा तो रहेगा ही।’

ये भी पढ़ें …CM योगी ने कहा- अक्टूबर 2018 तक UP को बनाएंगे खुले में शौच मुक्त

स्वछता के साथ लें राष्ट्र निर्माण का संकल्प
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंच से अपने संबोधन में कहा, कि ‘स्वच्छता अब सफाईकर्मी व सरकारी विभागों की जिम्मेदारी नहीं है। गंदगी किसी भी समाज के लिए अभिशाप है।’ उन्होंने कहा, स्वछता के साथ हमें राष्ट्र निर्माण का संकल्प लेना चाहिए। यह बहुत बड़ा काम है जो सभी के सहयोग से ही आगे बढ़ेगा।

ये भी पढ़ें …यूपी सरकार को केंद्र का झटका: इन दो शहरों के मेट्रो का प्रस्ताव लौटाया

‘मेरे लिए सब बराबर हैं’
एक समय ऐसा आया जब राष्ट्रपति कोविंद बेहद भावुक हो गए। उन्होंने कहा, ‘आज मैं आप सबके बीच आया हूं, इससे आपको जितनी ख़ुशी मिली है उससे ज्यादा मुझे हुई है। इस पद की मर्यादा है, मैं हमेशा याद रखूंगा।’ उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में मेरा घर है। लेकिन पूरा उत्तर प्रदेश ही मेरा गृह जिला है। लेकिन ये भी सही है कि मैं इस देश का राष्ट्रपति हूं। मुझे सबको देखना है। मेरे लिए सब बराबर हैं।’

ये भी पढ़ें …भाजपा चाहे जितना भी परेशान कर ले, झुकेंगे नहीं : राबड़ी देवी