×

गुड़गांव में तोड़ी गई कांशीराम की मूर्ति, दलितों ने हिंसा की धमकी दी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 31 May 2016 1:39 AM GMT

गुड़गांव में तोड़ी गई कांशीराम की मूर्ति, दलितों ने हिंसा की धमकी दी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गुड़गांवः यहां के सेक्टर 4 में अंबेडर भवन में लगी बीएसपी के संस्थापक कांशीराम की मूर्ति को कुछ लोगों ने तोड़ दिया। इससे हरियाणा में दलित समुदाय के लोग गुस्से में हैं। उन्होंने बड़ा आंदोलन छेड़ने और यहां तक कि हिंसा की धमकी तक दी है। घटना के बाद हरियाणा के कई जिलों में तनाव की खबर है।

क्या है मामला?

-कुछ लोगों ने सोमवार को कांशीराम की मूर्ति को हथौड़े से तोड़ डाला।

-बगल में ही अंबेडकर की मूर्ति थी, उसे हाथ नहीं लगाया।

-पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हुई है। तीन महीने पहले ही मूर्ति लगाई गई थी। तब कुछ लोगों ने इसका विरोध किया था।

मूर्ति तोड़े जाने से दलित खफा

-कांशीराम की मूर्ति तोड़े जाने से दलित खफा हो गए हैं। उन्होंने हिंसा की भी धमकी दी है।

-दलितों ने राज्य के सभी जिलों में बड़े आंदोलन का एलान किया है।

क्या कह रही है पुलिस?

-गुड़गांव पुलिस सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है।

-सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान की कोशिश जारी।

-मूर्ति तोड़ने वाले चेहरे पर नकाब बांधे हुए थे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story