×

यूपी के नए डीजीपी सुलखान सिंह का पहला इन्टरव्यू सिर्फ न्यूज़ट्रैक पर, इन्हें जनता का विश्वास है जीतना

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 21 April 2017 4:25 PM GMT

यूपी के नए डीजीपी सुलखान सिंह का पहला इन्टरव्यू सिर्फ न्यूज़ट्रैक पर, इन्हें जनता का विश्वास है जीतना
X
सुलेखान सिंह होंगे UP के नए DGP, जावीद अहमद को पद से हटाया गया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : सुलखान सिंह को एस जावीद अहमद की जगह उत्तर प्रदेश का नया पुलिस महानिदेशक बनाया गया है। सुलखान सिंह की आम शोहरत ईमानदार पुलिस अफसर के तौर पर है, देश के सब से बड़े सूबे उत्तर प्रदेश के डीजीपी बनाये जाने के बाद सुलखान सिंह ने न्यूज़ ट्रैक से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा है, कि बेहतर क़ानून व्यवस्था, पुलिस की डिसिप्लिन के साथ साथ साफ़ सुथरी छवि के अफसरों को मौक़ा देना उन कि प्राथमिकता होगी।

मूलतः बांदा के रहने वाले सुलखान 1980 बैच के आईपीएस अफसर हैं। सुलखान सिंह यूपी के सब से सीनियर आईपीएस अफसर हैं। ईमानदार और साथ सुथरी छवि के सुलखान सिंह का कार्यकाल सामान्य स्थिति सिर्फ पांच माह का होगा। सुलखान सिंह कल सुबह डीजीपी मुख्यालय में कार्यभार ग्रहण करेंगे। पुलिस महानिदेशक बनाये जाने के बाद सुलखान सिंह ने न्यूज़ ट्रैक संवाददाता शारिब जाफरी से एक्सक्लूसिव बातचीत की।

सवाल - :आपकी क्या प्राथमिकता होगी?

यूपी में मेरी प्राथमिकता क़ानून व्यवस्था, पुलिस का डिस्पिलिन और ईमानदार अफसरों को प्रमोट करना उन की प्राथमिकताओं में है। क़ानून व्यवस्था के मुद्दे पर किसी तरह का समझौता नहीं होगा। अपराधियों की जगह जेल में होगी। अपराध करने वाला चाहे कितना ही पहुँच वाला क्यों न हो उस को बक्शा नहीं जाए गा। इस के साथ पुलिस का डिसिप्लिन भी उन की प्राथमिकताओं में होगा।

सवाल -: पुलिस की छवि बहुत ख़राब है कैसे ठीक करेंगे ?

पुलिस की सब से छवि सब से आम जनता से होने वाले दुर्यव्यवहार के चलते खराब होती है। ऐसे में जनता से दुर्व्यवहार किसी भी क़ीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्हों ने कहा की शरीफ लोगों से सभ्य तरीके से पेश आना होगा। क्योंकि पुलिस से मदद के लिए आने वाला व्यक्ति पीड़ित होता है, ऐसे में पुलिस की प्राथमिकता ऐसे लोगों को मदद करना होगा।

सवाल -: पुलिस का मनोबल कैसे बढ़ाएंगे?

देखिये यूपी पुलिस का मुखिया होने के नाते मेरी ज़िम्मेदारी होगी कि जवानो का मनोबल बढ़ाया जाए। इसके लिए ईमानदार और कर्मठ पुलिस अफसरों व जवानो को फील्ड में भेजा जाएगा। ताकि अच्छा काम करने वालों को शाबाशी मिले। ताकि पुलिस के जवानो का हौसला बढ़ा रहे, और अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई हो सके।

सवाल -: पुलिस फ़ोर्स और प्रभावी बनाने के लिए क्या योजना है?

देखिये उत्तर प्रदेश पुलिस में टैलेंट की कमी नहीं है। हमारे पास युवा अफसरों की शानदार फ़ौज है, किसी भी फ़ोर्स को बेहतर बनाने के लिए क़ाबिलियत की ज़रुरत होती है, और क़ाबिलियत ही हर तैनाती का आधार होगी।

सवाल -:डीजीपी के तौर किन चीज़ों को बड़ी चुनौती मानते हैं?

देखिये जनता का विश्वास हासिल करना किसी भी फ़ोर्स या संस्था के लिए सब से महत्वपूर्ण है। सरकार की तरफ से किसी तरह का कोई दबाव नहीं है। सही को सही और गलत को गलत बताना सब से बड़ी ज़िम्मेदारी है। ऐसे में जनता का विश्वास हासिल कर लिया तो सारी चुनौतियां खुद बखुद ख़त्म हो जाएँगी

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story