Top

PM मोदी ने GST के लिए सभी दलों का जताया आभार, लोगों से कहा- आपके बिना संभव ना था

aman

amanBy aman

Published on 20 Jun 2017 12:48 PM GMT

PM मोदी ने GST के लिए सभी दलों का जताया आभार, लोगों से कहा- आपके बिना संभव ना था
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: पीएम नरेंद्र मोदी अमौसी एअरपोर्ट से सीधे CDRI पहुंचे। उसके बाद अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू) गए। यहां डिप्टी सीएम केशव मौर्य, मंत्री डॉ महेंद्र सिंह और प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन आदि ने पीएम मोदी की अगुवानी की। इस दौरान पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को एक स्वीकृति पत्र दिया।

इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, कि 'आज के समारोह के मुख्य अतिथि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री मोदी जी, राज्यपाल रामनाईक जी, सहयोगी केशव मौर्य, दिनेश शर्मा, प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन, वीसी विनय पाठक सहित सबका स्वागत है। आज हम सबके लिए ये अत्यधिक हर्ष और गौरव का विषय है कि नवीन परिसर के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री जी उपस्थित हैं।'

इसके बाद अपने संबोधन में पीएम मोदी बोले यूपी के गवर्नर रामनाईक जी, ऊर्जावान सीएम योगी आदित्यनाथ, दिनेश शर्मा, केशव मौर्या, संसद में मेरे साथी कौशल किशोर, वीसी विनय पाठक जी और नौजवान साथियों का बहुत बहुत धन्यवाद। आज एक साथ कई प्रकल्पों के लिए इस कार्यक्रम में सम्मालित होने का मुझे अवसर मिला।

योगीजी और उनकी टीम को बधाई

पीएम मोदी बोले, 'यूपी में सरकार के द्वारा जिस उमंग और एहसास और स्पष्ट दृष्टिकोण के साथ विकास की यात्रा चल रही है। देश में हर कोने में यूपी को लेकर बड़ी उत्सुकता है। योगी जी के नेतृत्व में जो एक के बाद एक कदम उठाये जा रहे हैं वह लंबे अर्से की बीमारियां दूर करते हुए यूपी को आगे बढ़ा रहा है। उनके प्रयास के लिए योगी जी और उनकी टीम को बहुत-बहुत बधाई और अभिनंदन।'

आपके लिए वैज्ञानिक अपना जीवन लैब में खपा देते हैं

पीएम मोदी बोले, 'हमारे वैज्ञानिक ऐसे ड्रग्स बना रहे हैं जो लोगों के उपचार के लिए सस्ते और लाभकारी हों। उसके लिये अपना जीवन लैब में बिता रहे हैं। वैज्ञानिक आधुनिक ऋषि होते हैं। मानव को किस प्रकार को शारीरिक पीड़ा से दूर किया जाए, उस पर वो काम कर रहे हैं। आज मानव के सामने खासकर आरोग्य के क्षेत्र में अनेक चुनौतियां हैं। एक दवाई बनाने में सालों बीत जाते हैं। सैकड़ों वैज्ञानिक खप जाते हैं। लेकिन उससे पहले नयी बीमारी आ जाती है। एक तरह से प्रतिस्पर्धा चलती रहती है। लेकिन इनोवेशन से सस्ती से सस्ती दवाई कैसे उपलब्ध को इस चुनौती को स्वीकार करके सफल होना है।'

कलाम से बड़ा कोई नाम नहीं

प्रधानमंत्री ने कहा, 'इस यूनिवर्सिटी को डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का नाम मिला है। उनके नाम से बड़ा तकनीकी जगत का कोई नाम नहीं है। हमारी युवा पीढी से अपेक्षा है कि हम टेक्नोलॉजी में कौन से ऐसे बदलाव करें जो सामान्य जीवन में बदलाव लाये। उन्होंने कहा, हम दुनिया में गर्व कह रहे हैं कि हम नौजवानों का देश हैं। अगर हाथ में हुनर हो, टेक्नोलॉजी हो तो मेरे देश का नौजवान विश्व में अपना डंका बजाने का साहस रखता है।'

science is universal, but...

पीएम मोदी ने कहा, 'science is universal, but technology must be local' टेक्नोलॉजी को समय से आगे रखना पड़ता है और दूर का देखना पड़ता है। आज नहीं हमारा देश डिफेन्स, सुरक्षा के लिए विदेशों से चीजें खरीदता है। क्या हम बहुत जल्द डिफेन्स के सेक्टर में भारत को आत्मनिर्भर नहीं बना सकते। हमें जिस टेक्नोलॉजी की अवश्यकता है, ऐसे सपनो को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं। हमने इसके लिए भारत के कारोबारियों को प्रोत्साहित किया है। ये सारे अवसर टेक्नोलॉजी से जुड़े युवा पीढ़ी के लिए हैं।'

तकनीक की दिशा में बढ़ाएं कदम

पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, 'आज मशीन तय करती है कि आपको कौन सी बीमारी है। बाद में डॉक्टर आपके आरोग्य का रोडमैप तैयार करता है। लेकिन मेडिकल इक्विपमेंट और उसकी जरूरत बड़ा सवाल है। क्यों न हम इसके लिए खोज करें। इसके निर्माण की दिशा में आगे बढ़ें। स्टार्ट अप इंडिया, स्किल इंडिया, मुद्रा योजना इसी दिशा में कदम है।'

हॉलीवुड फिल्म की बजट के बराबर में पहुंचे मार्स पर

उन्होंने कहा, 'देश के पास जो टेक्निकल ज्ञान है, इसको संकलित करके देश को नयी उचाईयों तक ले जाना है। जब भी युवा पीढ़ी को मौका मिला हमने किया।मार्स पर जाने के लिए हिंदुस्तान अपने पहले ट्रायल में वहां पहुंच गया। दुनिया को अचरज हो गया कि भारत के लोगों ने मार्स की यात्रा इतने सस्ते में की। एक किलोमीटर में 7 रुपए ही खर्च आया और टोटल खर्च हॉलीवुड की एक फिल्म के बजट में बन गया।'

योगीजी की सरकार से नाइकजी को सुविधा हुई

पीएम बोले, यूपी में शिक्षा के क्षेत्र में काम करना कठिन है। हमारे गवर्नर राम नाईक जी चांसलर के रूप में 28 यूनिवर्सिटी में अनुशासन और समय पर एग्जाम, दीक्षांत करने में सफल हुए। राम नाईक जी फोकस होकर काम करने के आदि हैं। योगी जी की सरकार आई है तो राम नाईक जी को सुविधा हो गयी है।

'बच्चे की शादी करूंगी, तो आपको बुलाऊंगी'

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, 'साल 2022 में देश आजादी का अपना 75वां साल मनाएगा। 2022 में आज़ादी के 75 साल होंगे। क्या हमारी ये जिम्मेदारी नहीं बनती कि देश को आगे ले जाएं। सवा सौ करोड़ भारतवासी में ये सामर्थ्य है कि देश को आगे ले जा सकें। 2022 में हिंदुस्तान के गरीब से गरीब के पास अपना घर हो, छत हो, घर में शौचालय हो, बिजली, पानी, शिक्षा की व्यवस्था हो। ये अभियान चल रहा है कि उसी के तहत कुछ माताओं को स्वीकृति पत्र मिले। एक लाभार्थी बोली, अब अच्छा हो जाएगा, बच्चे की शादी करूंगी और आपको शादी में बुलाऊंगी। ये भाव बड़ी प्रेरणा देते हैं।'

लखनऊ-कानपुर-उन्नाव के लोगों को होगा फायदा

पीएम बोले, 'आज ऊर्जा काफी महत्वपूर्ण है। एलईडी बल्ब के कारण 12 से 13 हज़ार करोड़ रुपएकी बचत हो रही है। आज 400 केवी ट्रांसमिशन लाइन का मैं उद्घाटन कर रहा था। ये लखनऊ-कानपुर-उन्नाव के लोगों को मदद करेगी।' पीएम ने कहा, आपके यहां तो बिजली वितरण में वीआईपी कोटा रहता था, मैं योगी जी को इसको ख़त्म करने के लिए बधाई देता हूं। जीवन के हर क्षेत्र में विकास की नई ऊंचाइयों को प्राप्त करना है।'

जीएसटी में सहयोग के लिए आप सबका धन्यवाद

पीएम ने कहा, '1 जुलाई से जीएसटी प्रारंभ हो रहा है। ये अपने आप में बहुत बड़ी सिद्धि है। दल से ऊपर उठकर सभी राजनैतिक दलों ने इसे पास कराकर दिखा दिया। मैं सबका आभारी हूं। मुझे विश्वास है कि 1 जुलाई के बाद नागरिकों के सहयोग से हम जीएसटी में आगे बढ़ेंगे तो दुनिया को अचरज होगा कि हम देशहित में ये करके दिखा सकते हैं। इसका क्रेडिट न मोदी को जाता है न किसी और को। ये भारत के लोगों को जाता है। इसमें जो कठिनाइयां हैं उसको सरकार ने दूर करने के प्रयास किये हैं।'

व्यापारी इसे कंधों पर उठाएं

पीएम ने व्यापारियों से आह्वान करते हुए कहा, 'जीएसटी की ये यात्रा सफल हो, इसके लिए व्यापारी इसे कंधे पर उठाएं। दो कदम आगे चलें और इसको सफल बनाएं।'

आगे की स्लाइड में पढ़ें योगी आदित्यनाथ ने क्या कहा ...

'डिजिटल इंडिया' को आगे बढ़ने का काम कर रहा एकेटीयू

सीएम योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, कि 'एकेटीयू के नवीन परिसर के उद्घाटन के साथ-साथ दो अन्य योजनाओं का उद्घाटन भी होगा। प्रदेश में मई 2000 में तत्कालीन बीजेपी सरकार ने टेक्निकल यूनिवर्सिटी की स्थापना की थी। अब इसके नवीन परिसर का उद्घाटन बीजेपी के प्रधानमंत्री द्वारा किया जायेगा।

इस यूनिवर्सिटी से 621 कॉलेज संबद्ध हैं। इस विश्विद्यालय द्वारा 'डिजिटल इंडिया' के काम को आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है।'

2.86 लाख बच्चे इस यूनिवर्सिटी में पढ़ते हैं

योगी ने कहा, 'इस विश्वविद्यालय द्वारा सभी पंजीकृत छात्रों को आधार से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। प्रश्न पत्रों को परीक्षा केंद्रों तक ऑनलाइन तरीके से भेजने का काम भी किया जा रहा। 2.86 लाख बच्चे इस यूनिवर्सिटी में पढ़ते हैं। डिजिटल इंडिया योजना को आगे बढ़ने के लिए ये यूनिवर्सिटी अपने काम को पूरी तरह डिजिटल कर चुकी है।'

विश्वविद्यालय ने 'करके सीखो' सिद्धांत को लागू किया है

यूपी के सीएम ने कहा, कि 'इस विश्वविद्यालय ने छात्रों में 'करके सीखो' सिद्धांत को लागू कराया है। इस विश्वविद्यालय ने इन्क्युबेशन सेंटर भी स्थापित किये हैं। प्रदेश के अंदर कौशल विकास और सुगम रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने का काम किया है। प्रदेश सरकार ने भीम एप्प को जनसुविधा केंद्रों से जोड़ा गया है।'

प्रदेश सरकार ने डिजिटल कार्य पर दिया जोर

योगी बोले, 'आने वाले समय में प्रदेश सरकार ने 312 करोड़ के डिजिटल पेमेंट का लक्ष्य रखा है। ई टेंडरिंग, ई हॉस्पिटल और ई ऑफिस की व्यवस्था के लिए प्रयास प्रारम्भ किया है। अमीर और गरीब के बीच खाई पटे, इसका प्रयास किया जा रहा है। कौशल विकास के क्षेत्र में 5 लाख से अधिक युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास है। राष्ट्र को तकनीकी रूप से सुदृढ बनाने के जो डॉ कलाम के प्रयास थे, उनके प्रति भावांजलि व्यक्त करने के लिए इस यूनिवर्सिटी का नाम उनके नाम पर रखा गया।आज पीएम द्वारा उसका उद्घाटन होना एक भावुक क्षण है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर ...

मोदी की एक झलक के लिए बच्चे दिखे बेकरार

एकेटीयू में विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों के बच्चे पीएम मोदी की एक झलक पाने का इंतजार कर रहे थे। पीएम मोदी ने बच्चों को देखकर हाथ हिलाया। वहीं पार्टी के कई नेतागण भी एकेटीयू में पीएम मोदी की झलक पाने के लिए उत्सुक दिखे।

चप्पे-चप्पे पर नजर

एकेटीयू में लगाए गए पंडाल में एसपीजी ने सुरक्षा की कमान पूरी तरह अपने हाथों में ले रखा है। हर एक जगह की बारीकी से जांच की जा रही है। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी के इसी पंडाल से आज पीएम मोदी कार्यक्रम में शामिल होंगे।

एकेटीयू के नवीन परिसर का करेंगे लोकार्पण

पीएम मोदी एकेटीयू के नवीन परिसर का लोकार्पण करेंगे। वो प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत चिन्हित लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र भी बांटेंगे। साथ ही 400 KV लखनऊ-कानपुर DC ट्रांसमिशन लाइंस का उद्घाटन भी करेंगे।

काला रुमाल और तौलिया न हो

गेट से लेकर पंडाल के अंदर मौजूद व्यक्तियों के जेब में काला रुमाल और तौलिया न हो, इसकी पुष्टि की जा रही है। अलग-अलग जिम्मेदार अधिकारी इसकी जांच कर रहे हैं। सख्त हिदायत है कि यदि बाद में किसी के पास काला रुमाल या अन्य ऐसी कोई वस्तु पायी गयी तो कठोर कार्यवाही की जायेगी। गौरतलब है, कि हाल ही में लखनऊ यूनिवर्सिटी के छात्र नेताओं ने सीएम योगी को काले झंडे दिखाए थे। पीएम के पूर्व में बीबीएयू दौरे के दौरान भी कुछ छात्रों ने विरोध किया था और 'मोदी गो बैक' के नारे लगाए थे। इसको लेकर प्रशासन सतर्क है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story