×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

अमेठी-रायबरेली से कांग्रेस का कौन बनेगा केवट...,पार्टी की नजरें इन पर

Lok Sabha Election 2024: रायबरेली स्थित भोएमऊ गेस्ट हाउस में भी केएल शर्मा ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं संग बैठक की। लोकसभा चुनाव के लिए जल्द ही प्रत्याशी घोषित हो सकते हैं।

Abhishek Mishra
Published on: 2 May 2024 2:38 AM GMT (Updated on: 2 May 2024 9:54 AM GMT)
Lok Sabha Election 2024
X

Lok Sabha Election 2024 (सोशल मीडिया) 

Lok Sabha Election 2024: अमेठी और रायबरेली लोकसभा सीट पर कांग्रेस अब तक प्रत्याशी नहीं घोषित कर सकी है। नामांकन के लिए अंतिम तारीख तीन मई है। ऐसे में कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष व रायबरेली सांसद के प्रतिनिधि किशोरी लाल शर्मा ने अपने हाथ में कमान संभाली है। जल्द ही दोनों सीटों पर पार्टी का निर्णय आ सकता है। ऐसी संभावना है कि कांग्रेस रायबरेली से अपने पूर्व विधायक कुंवर अजय पाल सिंह को लोकसभा चुनाव का प्रत्याशी घोषित कर सकती है, जबकि अमेठी से राहुल गांधी के मैदान में उतरने की पूरी संभावना का बल मिल रहा है।

सांसद प्रतिनिधि ने संभाली कमान

रायबरेली सांसद सोनिया गांधी के प्रतिनिधि किशोरी लाल शर्मा मंगलवार को अमेठी पहुंचे। इसके बाद अमेठी कांग्रेस में लगातार बैठकों का दौर जारी रहा। सूत्रों के मुताबिक सांसद प्रतिनिधि ने अमेठी कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के साथ बैठक की। जिसमें नामांकन की तैयारियों को लेकर चर्चा हुई। रायबरेली स्थित भोएमऊ गेस्ट हाउस में भी केएल शर्मा ने रायबरेली कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं संग बैठक की। लोकसभा चुनाव के लिए जल्द ही प्रत्याशी घोषित हो सकते हैं। पांचवे चरण के चुनाव के लिए कल नामांकन की अंतिम तिथि है। वहीं भाजपा के टिकट पर मौजूदा सांसद स्मृति ईरानी ने अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।

रायबेरली और अमेठी पर लग सकती इस नाम पर मुहर

रायबरेली और अमेठी गांधी-नेहरू की परंपरागत सीट है। वह इन दोनों की सीटों को किसी भी हाल में छोड़ना नहीं चाहती है। मगर साल 2019 के लोकसभा चुनाव में अमेठी गांधी परिवार से दूर हो गई, जबकि रायबरेली में पर अपना वर्चस्व कायम रखा। सोनिया गांधी के राज्यसभा चलने के बाद रायबरेली सीट भी खाली हो गई। पहले यहां से प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की संभावना थी, मगर उनके इंनकार के बाद यहां का उम्मीदवार चयन करना पार्टा के लिए सिर दर्द बना हुआ है। इसी दर्द को दूर करने के लिए कांग्रेस अपने सबसे खास कुंवर अजय पाल सिंह का रायबरेली से लोकसभा चुनाव लड़ाने के इच्छुक है। हालांकि अजय पाल सिंह बेटे की मौत के बाद से चुनावी राजनीति से दूरी बना ली है। अजय पाल सिंह 2007 से 2012 तक ऊंचाहार से कांग्रेस से विधायक रहे। वह गांधी परिवार के बेहद करीबी और भरोसेमंद माने जाते हैं। वहीं, अमेठी का रण फिर जीतने के लिए कांग्रेस के पास कोई ठोस उम्मीदवार नजर नहीं आ रहा है, जो मौजूदा सांसद एवं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को कड़ी टक्कर दे सके, इसलिए पार्टी राहुल गांधी पर ही टिकी है। हो सकता है कि आज अमेठी से राहुल गांधी और रायबरेली से अजय पाल सिंह के नाम पर उम्मीदवारी की मुहर लग जाए।


तीन को होगा कांग्रेस प्रत्याशी का नामांकन

कांग्रेस के क्षेत्रीय कार्यकर्ता लगातार मांग कर रहे हैं कि राहुल गांधी अमेठी से चुनाव लड़ें। अमेठी कांग्रेस की ओर से लगातार कहा जा रहा है कि जनता जिसे चाहती है वही चुनाव लड़ेंगे। बहुत कम समय में फैसला हो जाएगा। अमेठी कांग्रेस के एक बड़े नेता के मुताबिक राहुल गांधी आज शाम को अमेठी पहुंच सकते हैं। तीन मई को नामांकन दाखिल किया जाएगा। इसके लिए आज नामांकन फॉर्म खरीद लिया जाएगा।


इन सीटों पर पार्टियां असमंजस में

अमेठी और रायबरेली लोकसभा सीट को लेकर कांग्रेस असमंजस में है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की कैसरगंज लोकसभा सीट पर किसी पार्टी ने अपना प्रत्याशी नहीं घोषित किया है। भाजपा की ओर से बृजभूषण शरण सिंह का नाम सबसे आगे चल रहा है। लेकिन कुछ लोगों का मानना है कि इस बार उनका टिकट कट सकता है। वहीं समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने भी अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

Monika

Monika

Content Writer

पत्रकारिता के क्षेत्र में मुझे 4 सालों का अनुभव हैं. जिसमें मैंने मनोरंजन, लाइफस्टाइल से लेकर नेशनल और इंटरनेशनल ख़बरें लिखी. साथ ही साथ वायस ओवर का भी काम किया. मैंने बीए जर्नलिज्म के बाद MJMC किया है

Next Story