Top

कोविड मौतों के आंकड़ों में झोल, सरकार पर उठे सवाल, क्या है असलियत

सरकारी आंकड़े में मृतकों की संख्या कम बताई जा रही हैं, जबकि श्मशान और कब्रिस्तान में लाशों की संख्या काफी ज्यादा है।

Shreya

ShreyaPublished By Shreya

Published on 13 April 2021 5:52 PM GMT

कोविड मौतों के आकड़ों में झोल, सरकार पर उठे सवाल, क्या है असलियत
X

(सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भोपाल: कोरोना वायरस की वजह से कई राज्यों में स्थिति विकराल होती जा रही है। मध्य प्रदेश में भी महामारी के चलते हालात काफी बेकार होते जा रहे हैं। यहां पर श्मशान और कब्रिस्तानों में जलती और दफन होती लाशों की संख्या सरकारी आंकड़ों से काफी अलग है। मौतों के आंकड़े सरकारी आंकड़ों से कई गुना ज्यादा है।

सरकारी आंकड़े में कोरोना मृतकों की संख्या बहुत कम बताई जा रही हैं, जबकि श्मशान और कब्रिस्तान में कोविड प्रोटोकॉल के तहत जलाई जाने वाली लाशों की संख्या काफी ज्यादा है। बीते पांच दिनों के दौरान यहां जो मृतकों की संख्या सामने आई है, उसने सरकार पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। यहां पर श्मशाम घाट भरे हैं, लेकिन मृतकों की संख्या कम बताई जा रही है।

असलियत में काफी ज्यादा है संख्या

सरकार इन्हें कोरोना संदिग्ध मानती है तो वहीं विपक्ष इसे आंकड़े छुपाने का खेल बता रहा है। बता दें कि बीते पांच दिन में यानी 8 अप्रैल से 12 अप्रैल के दौरान सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, कुल 11 कोरोना मरीज की मौतें हुई है। जबकि इस दौरान श्मशान घाट और कब्रिस्तान में 266 शवों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल से किया गया है।

क्या सरकार छिपा रही आंकडे़ (फोटो- सोशल मीडिया)

इसके बाद से सरकार पर सवाल खड़े होने लगे हैं कि सरकार आकंड़ों को क्यों दबा रही है। बता दें कि कोरोना प्रोटोकॉल का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है क्योंकि शवों के साथ आने वाले परिजन श्मशाम घाट या कब्रिस्तार प्रबंध को मृतक के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी देते हैं। ऐसे में आंकड़े सरकार को झूठा साबित कर रही है। अब इन आंकड़ों को लेकर बीजेपी और कांग्रेस के बीच जंग छिड़ गई है।

कांग्रेस ने घेरा

कांग्रेस प्रवक्ता अजय सिंह यादव ने मृतकों के आंकड़ो पर सरकार को घेरते हुए कहा कि सरकार मौत के आंकड़ों में हेराफेरी कर रही है और कोरोना को लेकर गंभीर नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार की जंग अब महामारी से नहीं बल्कि मौत के आंकड़ों से हो रही है। दूसरी ओर बीजेपी नेता ने कहा कि कांग्रेस सिर्फ घटिया राजनीति करती है और अराजकता फैलाने का काम करती है। सरकार द्वारा संक्रमण को रोकने की कोशिश की जा रही है।

Shreya

Shreya

Next Story