Top

लाचार सिस्टम के आगे बेबस सेना का जवान, पत्नी को नहीं मिल रहा इलाज

सेना का जवान अपनी कोरोना संक्रमित पत्नी का इलाज कराने के लिए दर दर की ठोकरें खा रहे हैं। उनका कहना है कि अस्पताल वाले उनकी पत्नी को भर्ती नहीं कर रहे हैं।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkShreyaPublished By Shreya

Published on 21 April 2021 9:02 AM GMT

लाचार सिस्टम के आगे बेबस सेना का जवान, पत्नी को नहीं मिल रहा इलाज
X

जवान (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रीवा: देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) का संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है। रोजाना भारत में रिकॉर्ड तोड़ मामले सामने आ रहे हैं। बीते एक दिन में करीब तीन लाख मामले दर्ज किए गए हैं। लगातार बढ़ती संक्रमितों की संख्या के चलते स्वास्थ्य व्यवस्थाएं (Health system) चरमराने लगी हैं। कोविड-19 मरीजों (Covid-19 Patients) को अस्पतालों में इलाज के लिए बेड नहीं मिल रहा है। लगातार ऑक्सीजन की किल्लत (Oxygen Shortage) होने की खबर सामने आ रही है।

इस बीच मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने सभी को झकझोर कर रख दिया है। दरअसल, MP के
सीधी
जिले के रहने वाले सेना के जवान अपनी पत्नी का इलाज कराने के लिए दर दर की ठोकरें खा रहे हैं। उनका कहना है कि अस्पताल वाले उनकी पत्नी को भर्ती करने से मना कर रहे हैं। अस्पतालों का कहना है कि उनके पास ऑक्सीजन की कमी है। इसलिए वो मरीज को भर्ती नहीं कर सकते।
लाचार हुआ सेना का जवान

रूंहासी आवाज में जवान रोकर कह रहा है कि हम देश के लिए मर रहे हैं, चार दिन की छुट्टी लेकर आए हैं और मेरी पत्नी को इलाज नहीं मिल रहा है। अब उनका ये वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसके बाद सोशल मीडिया यूजर्स जवान की मदद करने की अपील कर रहे हैं।

स्वास्थ्य सुविधा की कमी के चलते दम तोड़ रहे मरीज

आपको बता दें कि देश में तेजी से बढ़ते संक्रमण के बीच बेड से लेकर ऑक्सीजन की किल्लत होने लगी है। कई राज्य इसे लेकर केंद्र सरकार से शिकायत कर चुके हैं। इधर, बेड और ऑक्सीजन की कमी होने के चलते लोगों को इलाज के लिए घंटों या कई दिनों तक भी इंतजार करना पड़ रहा है। आलम ये है कि स्वास्थ्य सुविधा न मिलने की वजह से कई सारे मरीज दम तोड़ चुके हैं।
Shreya

Shreya

Next Story