×

इंदौर मुस्लिम युवक की पिटाई मामला: अल्पसंख्यक आयोग ने लिया संज्ञान, 7 दिन में मांगी रिपोर्ट

मध्य प्रदेश के इंदौर में चूड़ियां बेचने वाले एक मुस्लिम युवक की पिटाई पर अल्पसंख्यक आयोग ने संज्ञान लेते हुए इस मामले में इंदौर के डीएम से 7 दिन में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

Network

NetworkNewstrack NetworkDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 23 Aug 2021 1:22 PM GMT

Indore Muslim youth beating case
X

चूड़ी बेचने वाले मुस्लिम युवक की पिटाई करते लोग। (Social Media)  

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Indore Muslim youth beating case: मध्य प्रदेश के इंदौर में चूड़ी बेचने वाले मुस्लिम युवक की पिटाई के मामले का राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने स्वत: संज्ञान लिया है। अल्पसंख्यक आयोग ने इस मामले में इंदौर के डीएम से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। वहीं, ये मामला काफी तूल पकड़ता हुआ दिख रहा है। इस मामले राजनीतिक हस्ताक्षेप भी शुरू हो गया है।

अल्पसंख्यक आयोग को सोशल मीडिया से पता चला ये मामला

वहीं, इंदौर के डीएम को भेजे पत्र में अल्पसंख्यक आयोग ने कहा है कि उसे सोशल मीडिया से पता चला है कि अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखने वाले एक युवक को पीटा गया है। आयोग ने कहा है कि ऐसी घटनाएं देश सेकुलर ढांचे के लिए खतरा है और अल्पसंख्यकों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाती है।

जिला प्रशासन को फटकार लगाते हुए आयोग ने कहा है कि जिले में इस तरह की कई घटनाएं हो रही है और आयोग को लगता है कि ऐसी साम्प्रदायिक घटनाओं के खिलाफ जिला प्रशासन उचित कार्रवाई नहीं कर रहा है।

ये था मामला

शहर के बाणगंगा के गोविंद नगर इलाके से एक युवक के साथ मारपीट का वीडियो सामने आया था। वायरल वीडियो में देखा जा सकता है, कि कुछ लोग एक युवक की पिटाई करते हुए उसे अपशब्द कह रहे हैं। वहीं, बैग से एक के बाद एक कई चूड़ियां भी निकाल रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, यूपी के हरदोई में रहने वाला तसलीम नाम का युवक चूड़ी बेचने इंदौर पहुंचा। पीड़ित ने बताया कि चुड़ी बेचते हुए जा रहा था, तभी वह रास्ते में कुछ महिलाओं को चूड़ियां दिखाने लगा। इसी दौरान अचानक आए कुछ लोगों ने उसकी पिटाई कर दी। पिटाई का ये वीडियो वायरल होने के बाद समुदाय विशेष के लोगों ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर हंगामा किया, जिसके बाद सेंट्रल कोतवाली पुलिस ने अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कर दिया है।

मॉब लिंचिंग मामले में की गई कार्रवाई

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस ने भी ट्वीट कर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्विट कर लिखा है कि इंदौर का यह वीडियो भगवा तालिबानियों का है, एक चूड़ी बेचने वाले मुस्लिम युवक को जिस अभद्र भाषा, जातीयता का उल्लेख कर मॉब लीचिंग किया जा रहा है, यह आतंकवाद है या राष्ट्रवाद. क्या कार्रवाई होगी या कुर्ते का रंग देखकर इन्हें "हिन्दूरत्न" से सम्मानित किया जाएगा? किधर ले जा रहे हैं देश को।

मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिया बयान

इंदौर में हुई मॉब लिंचिंग (mob lynching) के मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam mishra) ने कहा कि आरोपी हिंदू नाम रखकर चूड़ी बेचता था, जबकि वह दूसरे समुदाय का था। उसके पास से दो आधार कार्ड भी मिले हैं। मामले में दोनों पक्षों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। फिलहाल, सेंट्रल कोतवाली पुलिस ने अज्ञात लोगों पर 14 धाराओं में जीरो FIR दर्ज कर लिया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

7 दिन के अंदर दें आयोग को जांच की रिपोर्ट

अल्पसंख्यक आयोग ने कहा है कि वो जिला मजिस्ट्रेट को निर्देश देता है कि इस घटना की 7 दिन के अंदर जांच कर विस्तृत रिपोर्ट आयोग को सौंपें और यह भी बताए कि ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वालों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है। साथ ही जिला प्रशासन यह भी बताए कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृति रोकने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं। आयोग ने चेतावनी भरे शब्दों में कहा है कि 7 दिन के अंदर रिपोर्ट नहीं मिलने पर आयोग इसे गंभीरता से लेगा।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story